मुख्य समाचार
UPTET : हाईकोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट ने किया निरस्त, 1 लाख से ज्यादा शिक्षकों को मिली राहत अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर बोला करारा हमला, कहा- नौजवानों की जिन्दगी में ... फतेहपुर में प्रतिबंधित मांस मिलने पर बवाल, मदरसे पर पथराव साक्षी मामले पर मालिनी अवस्थी का बड़ा बयान, लड़कियां जीवन साथी चुनें लेकिन... यूपी पुलिस को मिली बड़ी सफलता, दो इनामी बदमाश किए ढेर वरिष्ठ पत्रकार बरखा दत्त ने कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल पर लगाए गम्भीर आरोप, मचा घमासान अंतिम संस्कार की चल रही थी तैयारी, अचानक युवक की खुली आंखे और फिर जो हुआ... सरकारी आवास के मोह पॉश में जकड़े दो पूर्व मंत्रियों को गहलोत सरकार ने दिया जुर्माने का झटका सलमान संग फिल्मों में डेब्यू कर सुपरस्टार बनीं कटरीना का नहीं है कोई क्राइम रिकॉर्ड 149 साल बाद बन रहा गुरू पूर्णिमा पर चंद्र दुर्लभ योग सपा नेता अखिलेश यादव की गोली मारकर हत्या, सियासत में भूचाल
 

मीसा भारती ने चुनाव में हार का लिया ऐसे बदला


ABHIMANYU VERMA 15/06/2019 09:49:49
2234 Views

Patna. आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव की बेटी और राज्यसभा सांसद मीसा भारती लोकसभा चुनाव में पाटलिपुत्र से मिली हार को अभी तक हजम नहीं कर पायीं हैं। हार से बौखलायीं मीसा भारती ने पाटलिपुत्र की जनता से बदला लेने की सोच ली है।

15-06-2019095809MisaBhartiAv1 

दरअसल, मीसा भारती ने अपनी सांसद निधि से 15 करोड़ रुपये की परियोजना की मंजूरी वापस ले ली। मीसा के फैसले से योजना विभाग के अधिकारी परेशान हैं। अधिकारियों का कहना है कि उनके विभाग को परियोजना के लिए 6 करोड़ रुपये की मंजूरी दी गई थी लेकिन अब वापस लिए जाने पर उन्हें कागजी कार्रवाई पर काफी समय और ऊर्जा बर्बाद होगी।

बताया जा रहा है कि लोकसभा चुनावों से ठीक पहले मीसा ने पाटलिपुत्र क्षेत्र के तहत आने वाले पटना के ग्रामीण इलाकों में विकास कार्य के लिए अपने फंड से पैसे मंजूर किए थे। लेकिन चुनाव में भाजपा उम्मीदवार राम कृपाल यादव से हारने के बाद उन्होंने गुरुवार को परियोजनाओं को दी गई मंजूरी वापस ले ली है। 

यह भी पढ़ें:-...झारखंड: नक्सली हमले में दो ASI समेत 5 पुलिसकर्मी शहीद

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, राज्यसभा सांसद के बतौर अपने कार्यकाल के शुरुआती सालों में उन्होंने सांसद निधि का इस्तेमाल नहीं किया था। 

मीसा भारती के फैसले की चौतरफा आलोचना

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता संजय सिंह ने मीसा भारती के इस कदम की निंदा की है। उन्होंने कहा कि इससे जनता के बीच बहुत गलत संदेश जाता है। किसी विशेष क्षेत्र के लोगों ने आपके लिए वोट किया है या नहीं, इसके आधार पर भेदभाव अलोकतांत्रिक है।

वहीं, सहयोगी दल कांग्रेस ने भी मीसा के इस कदम को निंदा गलत बताया है। विधान पार्षद प्रेम चंद्र मिश्रा ने कहा कि एक बार परियोजना को मंजूरी मिल जाने के बाद इसे लागू किया जाना चाहिए। अनुमोदन को वापस लेना उचित नहीं। 

हालांकि, मीसा भारती या आरजेडी के किसी भी नेता की ओर से इस मामले में अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली हैं। 

Web Title: Misa Bharti Avenged defeat in elections ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया