एनडी टीवी के खास प्रमोटरों पर सेबी ने लगाई रोक, लगा इतने साल का प्रतिबंध


NAZO ALI SHEIKH 15/06/2019 11:03:09
81 Views

New Delhi. एनडीटीवी के जाने माने और तीन खास प्रमोटरों प्रणय रॉय, राधिका रॉय और उनकी होल्डिंग कंपनी को पूंजी बाजार से दो साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया है। साथ ही दोनों प्रमोटरों को इस दौरान कंपनी के शीर्ष प्रबंधन या बोर्ड की सदस्यता पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है। गौरतलब हो कि सेबी ने आदेश देते हुए कहा है कि रॉय दंपती किसी दूसरी कंपनी के शीर्ष प्रबंधन या बोर्ड में एक साल तक किसी भी पद पर नहीं रह सकते हैं।  

15-06-2019110841Sebistopsexe1

  नियम उल्लंघन के तहत कार्रवाई

छोटे शेयर होल्डर को कंपनी की तरफ से किए गए तीन लोन समझौतों की जानकारी नहीं देने पर नियमन के उल्लंघन के चलते उन पर यह कार्रवाई की गई है। इनमें एक लोग आईसीआईसीआई से हैं, जबकि बाकी के दो लोग विश्वप्रधान कमर्शियल प्राइवेट लिमिटेड (वीसीपीएल) से जुड़े हैं।

सेबी की तरफ से जारी 51 पेज के आदेश में कहा गया है कि आरआपीआर प्रणव रॉय और राधिका रॉय को सिक्युरिटी की खरीद, इससे प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से जुड़े रहने से तत्काल प्रभाव से प्रतिबंधित किया जाता है। 

यह भी पढ़ें... RJD के दो नेताओं को बदमाशों ने गोलियों से भुना

इसके साथ ही यह प्रतिबंध म्यूचुअल फंड यूनिट पर भी रहेगा। एनडीटीवी के एक शेयर होल्डर क्वांटम सिक्युरिटीज प्राइवेट लिमिटेड की ओर से साल 2017 में की गई शिकायत के बाद यह कार्रवाई की गई है। शिकायत में वीसीपीएल के साथ किए गए लोन समझौते के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी छुपाकर नियमों को तोड़ने का आरोप लगाया गया है।

15-06-2019111012Sebistopsexe2

  गलत आदेश 

इस बीच, एनडीटीवी के संस्थापक प्रणय और राधिका रॉय ने सेबी के आदेश को कानून और तय प्रक्रिया के खिलाफ बताया है। उन्होंने कहा कि उन मुद्दों पर यह गलत आदेश दिया गया है, जिनका जिक्र कारण बताओ नोटिस में नहीं था। हम कानूनी सलाह लेकर कुछ दिनों में आदेश को कोर्ट में चुनौती देंगे। 

Web Title: Sebi stops execution of special promoters of ND TV ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया