मुख्य समाचार
UPTET : हाईकोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट ने किया निरस्त, 1 लाख से ज्यादा शिक्षकों को मिली राहत अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर बोला करारा हमला, कहा- नौजवानों की जिन्दगी में ... फतेहपुर में प्रतिबंधित मांस मिलने पर बवाल, मदरसे पर पथराव साक्षी मामले पर मालिनी अवस्थी का बड़ा बयान, लड़कियां जीवन साथी चुनें लेकिन... यूपी पुलिस को मिली बड़ी सफलता, दो इनामी बदमाश किए ढेर वरिष्ठ पत्रकार बरखा दत्त ने कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल पर लगाए गम्भीर आरोप, मचा घमासान अंतिम संस्कार की चल रही थी तैयारी, अचानक युवक की खुली आंखे और फिर जो हुआ... सरकारी आवास के मोह पॉश में जकड़े दो पूर्व मंत्रियों को गहलोत सरकार ने दिया जुर्माने का झटका सलमान संग फिल्मों में डेब्यू कर सुपरस्टार बनीं कटरीना का नहीं है कोई क्राइम रिकॉर्ड 149 साल बाद बन रहा गुरू पूर्णिमा पर चंद्र दुर्लभ योग सपा नेता अखिलेश यादव की गोली मारकर हत्या, सियासत में भूचाल बच्चों में गुणवत्तापरक शिक्षा के साथ अच्छे संस्कार भी जरूरी : ब्रजेश पाठक  रवि किशन ने राहुल को दी नसीहत, सीरियस नहीं हुए तो राजनीति से करियर खत्म योगी सरकार शिक्षा के क्षेत्र में सरकारी नहीं असरदार कार्य कर रही है : उप मुख्यमंत्री जय श्रीराम न बोलने पर बागपत में मौलाना की पिटाई सावन की पूर्णिमा व अमावस्या पर होगी भव्य गंगा आरती पहले दूसरे जाति की लड़की से की शादी, फिर बेइज्जती के डर से पत्‍नी की करवा दी हत्या
 

बिजली मजदूर संगठन ने निजीकरण के विरोध में भरी हुंकार


DEEP KRISHAN SHUKLA 15/06/2019 14:49:49
44 Views

Unnao. उत्तर प्रदेश बिजली मजदूर संगठन की सभा 132 केवी उपकेंद्र कुदंन रोड में सम्पन्न हुई। इस सभा में संगठन ने बिजली विभाग के निजीकरण के विरोध के लिए सभी से एकजुट होने का आह्वान किया। इसके अलावा विभाग में कार्यरत कर्मचारियों और संविदा कर्मियों की समस्याओं पर भी चर्चा हुई। 

15-06-2019145446ElectricityLa1
सभा की अध्यक्षता करते हुए संगठन के महामंत्री सुहेल आबिद ने कहा कि एक बार से बिजली उद्योग के निजीकरण का प्रयास किया जा रहा है जिसे किसी भी हालत में सफल नहीं होने देना है। 
उन्होंने कहा कि अभी तक तो प्रदेश के किसानों और गरीब जनता को सस्ती दरों पर बिजली मिल रही है लेकिन विभाग निजी हाथों में चला गया तो व्यापार करने वाले घराने सिर्फ अपने नफा नुकसान के लिए काम करेंगे। 
प्रदेश की 20 करोड़ जनता को इसका विरोध करना होगा। प्रदेश का बिजली कर्मी किन हालातों में काम कर रहा है इसका अंदाजा भी शायद सरकार को नहीं है। 
पर्याप्त संसाधनों की उपलब्धता के बावजूद रात दिन एक कर प्रदेश की जनता को निर्बाध आपूर्ति देने में महकमें के कर्मचारी अपनी जान जोखिम में डाल रहें हैं। 
बीते 6 महीनों से संविदा कर्मियों के मानदेय का भुगतान नहीं हुआ है। कर्मचारियों की वेतन विसंगतियां भी आज तक प्रबंधन दूर नहीं करा सका है। 
उन्होंने कहा कि संविदा कर्मचारियों का भुगतान विभाग को स्वयं अपने हाथ में लेकर ठेकेदारी प्रथा को समाप्त करना चाहिए। 
सभा को जगन्नाथ सिंह, मोहित भारतीय, मो इमरान, मुनेंद्र सिंह, अमित भारतीय, सोमनाथ शुक्ला, विवेक कुमार, श्यामफैर, सुमित सहगल, मुहम्म्द आसिफ, आशीष विश्वकर्मा आदि ने सम्बोधित किया। 
सभा में सैकड़ों कर्मचारियों ने अन्य संगठनों का साथ छोड़कर उत्तर प्रदेश बिजली मजदूर संगठन की सदस्यता ग्रहण की। 
सभा में उपाध्यक्ष कुलेन्द्र सिंह चौहान, संगठन मंत्री सागर शर्मा, गुफरान वारसी, नितिन शुक्ला आदि मौजूद रहें।

यह भी पढ़ें...दान के सिक्कों को लेकर परेशानी में साईं बाबा मंदिर ट्रस्ट, जानिए क्या है वजह

 

 

Web Title: Electricity Labor Organization is united to protest privatization ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया