मुख्य समाचार
UPTET : हाईकोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट ने किया निरस्त, 1 लाख से ज्यादा शिक्षकों को मिली राहत अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर बोला करारा हमला, कहा- नौजवानों की जिन्दगी में ... फतेहपुर में प्रतिबंधित मांस मिलने पर बवाल, मदरसे पर पथराव साक्षी मामले पर मालिनी अवस्थी का बड़ा बयान, लड़कियां जीवन साथी चुनें लेकिन... यूपी पुलिस को मिली बड़ी सफलता, दो इनामी बदमाश किए ढेर वरिष्ठ पत्रकार बरखा दत्त ने कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल पर लगाए गम्भीर आरोप, मचा घमासान अंतिम संस्कार की चल रही थी तैयारी, अचानक युवक की खुली आंखे और फिर जो हुआ... सरकारी आवास के मोह पॉश में जकड़े दो पूर्व मंत्रियों को गहलोत सरकार ने दिया जुर्माने का झटका सलमान संग फिल्मों में डेब्यू कर सुपरस्टार बनीं कटरीना का नहीं है कोई क्राइम रिकॉर्ड 149 साल बाद बन रहा गुरू पूर्णिमा पर चंद्र दुर्लभ योग सपा नेता अखिलेश यादव की गोली मारकर हत्या, सियासत में भूचाल बच्चों में गुणवत्तापरक शिक्षा के साथ अच्छे संस्कार भी जरूरी : ब्रजेश पाठक  रवि किशन ने राहुल को दी नसीहत, सीरियस नहीं हुए तो राजनीति से करियर खत्म योगी सरकार शिक्षा के क्षेत्र में सरकारी नहीं असरदार कार्य कर रही है : उप मुख्यमंत्री जय श्रीराम न बोलने पर बागपत में मौलाना की पिटाई सावन की पूर्णिमा व अमावस्या पर होगी भव्य गंगा आरती पहले दूसरे जाति की लड़की से की शादी, फिर बेइज्जती के डर से पत्‍नी की करवा दी हत्या
 

जर्मन राइफल मिलने से गहराया नक्सलियों के पाकिस्तान कनेक्शन का शक


DEEP KRISHAN SHUKLA 15/06/2019 15:56:45
24 Views

New Delhi. नक्सलियों के पास से जर्मनी निर्मित जी-3 राइफल मिलने से सुरक्षा एंजेसिंयों की चिंता बढ़ गयी है। छत्तीसगढ़ के कांकेर में मुठभेड़ के दौरान जो रायफल मिली हैं आम तौर पर उनका प्रयोग पाकिस्तान की सेना करती है। जिससे नक्सलियों के पाकिस्तान कनेक्शन की संभावनाओं ने जन्म ले लिया है। यह सुरक्षा एजेंसियों के लिए बड़ी चिंता का विषय बन गया है। 

15-06-2019155943Naxalitessusp1

बता दें कि शुक्रवार को सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच छत्तीसगढ़ के कांकेर स्थित ताड़ोकी थाना क्षेत्र के छोटेमुलनार और मालेपारा गांव के बीच जंगलों में मुठभेड़ हुई थी। इस मुठभेड़ में पुलिस ने दो नक्सलियों को मार गिराया। उनके पास से बरामद हथियारों पर जब सुरक्षाबलों की निगाह पड़ी तो उनके होश उड़ गए। 

3 जर्मनी की हेकलर एंड काच कंपनी द्वारा निर्मित जी-3 राइफल मिलने पर सुरक्षाबल दंग रह गए। जानकारों के मुताबिक, इन राइफलों का प्रयोग पाकिस्तानी सेना करती है। नक्सल विरोधी अभियान से जुड़े पुलिस उप मानिरीक्षक पी सुंदरराज के मुताबिक, जी 3 राइफल पाकिस्तान की सेना के अलावा कुछ अन्य जगहों पर सुरक्षा बलों द्वारा किया जाता है। 

पुलिस ने  आशंका जताई है कि कुछ सालों पहले अवैध रूप से बस्तर लाए गए विदेशी हथियारों में ही ये राइफल लाई गयी होंगी। भारतीय सेना ये राइफल प्रयोग नहीं करती। फिलहाल पुलिस इस मामले की तह तक जाने में जुट गयी है कि आखिर पाकिस्तानी सेना द्वारा प्रयोग की जाने वाली राइफल नक्सलियों के पास कैसे पहुंची? 

बता दें कि यह पहली बार नहीं हुआ जब नक्सलियों के पास से पाकिस्तानी सेना द्वारा प्रयोग किए जाने वाले हथियार मिले हो। बीते वर्ष सुकमा में मुठभेड़ में मारे गए दो आतंकियों के पास से पाकिस्तानी सेना द्वारा प्रयोग की जाने वाली राइफल बरामद हुई थी। 

नक्सलियों के पास ये हथियार मिलना सुरक्षा एजेंसियों के लिए बड़ी चिंता का विषय है। इससे नक्सलियों के पाकिस्तान कनेक्शन की संभावनाओं को बल मिल रहा है। यदि ऐसा तो यह देश की सुरक्षा के लिहाज से बहुत ही घातक हो सकता है। 

यह भी पढ़े...झारखंड: नक्सली हमले में दो ASI समेत 5 पुलिसकर्मी शहीद

Web Title: Naxalites suspect Pakistan connection deeper after getting recovery of German Rifle ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया