मुख्य समाचार
UPTET : हाईकोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट ने किया निरस्त, 1 लाख से ज्यादा शिक्षकों को मिली राहत अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर बोला करारा हमला, कहा- नौजवानों की जिन्दगी में ... फतेहपुर में प्रतिबंधित मांस मिलने पर बवाल, मदरसे पर पथराव साक्षी मामले पर मालिनी अवस्थी का बड़ा बयान, लड़कियां जीवन साथी चुनें लेकिन... यूपी पुलिस को मिली बड़ी सफलता, दो इनामी बदमाश किए ढेर वरिष्ठ पत्रकार बरखा दत्त ने कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल पर लगाए गम्भीर आरोप, मचा घमासान अंतिम संस्कार की चल रही थी तैयारी, अचानक युवक की खुली आंखे और फिर जो हुआ... सरकारी आवास के मोह पॉश में जकड़े दो पूर्व मंत्रियों को गहलोत सरकार ने दिया जुर्माने का झटका सलमान संग फिल्मों में डेब्यू कर सुपरस्टार बनीं कटरीना का नहीं है कोई क्राइम रिकॉर्ड 149 साल बाद बन रहा गुरू पूर्णिमा पर चंद्र दुर्लभ योग सपा नेता अखिलेश यादव की गोली मारकर हत्या, सियासत में भूचाल
 

देशभर में डॉक्टरों की हड़ताल, IMA और AIIMS का भी मिला समर्थन


ABHIMANYU VERMA 17/06/2019 11:33:17
35 Views

New Delhi. पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों के साथ हिंसा के बाद जारी हड़ताल को 7 दिन से ज्यादा हो चुके हैं। लेकिन ये हड़ताल खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। वहीं, डॉक्टरों के दूसरे संगठन भी इस हड़ताल में शामिल हो रहे हैं। इसी क्रम में इंडियन मेडिकल असोसिएशन (IMA) और एम्स के जूनियर रेजिडेंट डॉक्टरों ने सोमवार को हड़ताल में शामिल होने का फैसला किया है।

17-06-2019114752Doctorsstrik1

जानकारी के मुताबिक सोमवार सुबह 6 बजे से 24 घंटे तक इंडियन मेडिकल असोसिएशन और एम्स के जूनियर रेजिडेंट के डॉक्टरों समेत देशभर में 5 लाख से ज्यादा डॉक्टर हड़ताल करेंगे। इससे पहले शनिवार देर रात पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों की हड़ताल खत्म होने के आसार दिखायी पड़े थे। डॉक्टरों ने कहा था कि वे प्रदर्शन खत्म करने के लिए सीएम ममता बनर्जी से बातचीत को तैयार हैं, लेकिन मुलाकात की जगह वे बाद में तय करेंगे। 

यह भी पढ़ें:-...पश्चिम बंगालः डॉक्टर्स की हड़ताल खत्म होने के आसार

जूनियर डॉक्टरों के संयुक्त फोरम ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि वह हमेशा से बातचीत के लिए तैयार हैं। अगर सीएम एक हाथ बढ़ाएंगी तो वह 10 हाथ बढ़ाएंगे। वह इस गतिरोध के खत्म होने की तत्परता से इंतजार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि वे बैठक के लिए प्रस्तावित स्थान को लेकर अपने संगठन के फैसले का इंतजार करेंगे।

क्या है पूरा मामला

10 जून को नील रत्न सरकार मेडिकल कॉलेज में इलाज के दौरान एक 75 वर्षीय मरीज की मौत से गुस्साए परिजनों ने हॉस्पिटल में डॉक्टरों को गालियां दी थी। इसके बाद डॉक्टरों ने कहा कि जब तक मृतक के परिजन उनसे माफी नहीं मांगते हैं, तब तक वह प्रमाण पत्र नहीं देंगे। 

इसके बाद मामले ने हिंसक रूप ले लिया। डॉक्टरों की ओर से प्रमाण पत्र नहीं देने और माफी की मांग पर अड़ने के कुछ देर बाद हथियारों के साथ भीड़ ने हॉस्पिटल में हमला कर दिया। जिसमें दो जूनियर डॉक्टर गंभीर रूप से घायल हो गए। इसके अलावा कई और डॉक्टरों को चोटें आईं। इससे नाराज डॉक्टर हड़ताल परे बैठे हुए हैं।

Web Title: Doctors' strike across the country in support of junior doctors of West Bengal ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया