चमकी बुखार से मरने वाले बच्चों की संख्या 135 पहुंची, सरकार खामोश


SUJEET KUMAR 20/06/2019 10:00 AM
76 Views

Patna. बिहार में चमकी बुखार से मरने वाले बच्चों की संख्या 135 पहुंच गई है, लेकिम इसके बावजूद भी सरकार खामोश बैठी है। इस बुखार की चपेट में मुजफ्फरपुर के बच्चे सबसे ज्यादा आए हैं। यहां 117 बच्चों की मौत हुई है। वहीं मोतिहारी में 12 और बेगूसराय 6 बच्चों की मौत हुई हैं।

chamki fever death toll muzaffarpur medical college cm nitish kumar

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार दिल्ली में व्यस्त हैं, तो डिप्टी सीएम सुशील मोदी पटना में। ऐसे में हर कोई सवाल पूछ रहा है कि बच्चों की सांसें छिनने का सिलसिला कब खत्म होगा? फिलहाल इसका जवाब किसी के पास नहीं है।  

क्या है चमकी बुखार के लक्षण

ये एक संक्रामक बीमारी है। इस बीमारी के वायरस शरीर में पहुंचते ही खून में शामिल होकर अपना प्रजनन शुरू कर देते हैं। शरीर में इस वायरस की संख्या बढ़ने पर ये खून के साथ मिलकर व्यक्ति के मस्तिष्क तक पहुंच जाते हैं। मस्तिष्क में पहुंचने पर ये वायरस कोशिकाओं में सूजन पैदा कर देते हैं, जिसकी वजह से शरीर का 'सेंट्रल नर्वस सिस्टम' खराब हो जाता है।

चमकी बुखार में बच्चे को लगातार तेज बुखार चढ़ा रहता है। बदन में ऐंठन के साथ बच्चा अपने दांत पर दांत चढ़ाए रहता हैं। शरीर में कमजोरी की वजह से बच्चा बार-बार बेहोश होता रहता है। शरीर में कंपन के साथ बार-बार झटके लगते रहते हैं। यहां तक कि शरीर भी सुन्न हो जाता है। 

Web Title: chamki fever death toll muzaffarpur medical college cm nitish kumar ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया