मुख्य समाचार
बाढ़ और बारिश से बेस्वाद हुई दाल, टमाटर हुआ लाल, इन सब्जियों के बढ़े 50 फीसदी दाम मॉब लिंचिंग पर सपा सांसद का बड़ा बयान, कहा- पाकिस्तान न जाने की सजा भुगत रहे हैं मुसलमान अब इस दिग्गज ने की प्रियंका के नाम की वकालत बाढ़ से बेहाल असम-बिहार, ताजा तस्वीरों में देखें तबाही का मंजर पीड़ितों ने कौन सा अपराध किया जो उन्हें मुझसे मिलने से रोका जा रहा : प्रियंका AKTU : यूपीएसईई – 2019 की काउंसलिंग का तीसरा चरण आज से शुरु ICC के फैसले से सदमे में जिम्बाब्वे की टीम प्लेसमेंट ड्राइव में 5 से 7 लाख के पैकेज के साथ आई कंपनी, 120 छात्र-छात्राओं ने किया प्रतिभाग मंचीय कविता के आखिरी स्तम्भ थे नीरज : लक्ष्मी नारायण चौधरी एजाज खान के अरेस्ट होने के बाद ट्वीटर पर छाए मीम्स- यूजर्स बोले... ग्रामीण क्षेत्रों में भी किया जाना चाहिए मैंगो फूड फेस्टिवल का आयोजन : डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा तेजबहादुर की याचिका पर पीएम मोदी को नोटिस हंगामे की भेंट चढ़ा विधानसभा के मानसून सत्र का पहला दिन  प्रियंका को लेकर चुनार पहुंची पुलिस; सैकड़ों की संख्या में कांग्रेस समर्थक मौजूद नारेबाजी जारी लखनऊ में शिवसेना का सदस्यता अभियान शुरू  जिला पंचायत सदस्य पर प्लाट कब्जाने का आरोप, एंटी भूमाफिया पोर्टल पर शिकायत  टैंपो चालकों ने किया हंगामा, भाजपा सांसद के पुत्र के करीबियों और पुलिस पर लगा वसूली का आरोप  फोरम के आदेश की नाफरमानी लखनऊ डीएम को पड़ी भारी, वेतन रोकने के आदेश अजय कुमार लल्लू बोले - जमीनी विवाद नहीं, सामूहिक नरसंहार है घोरावल कांड जमीनी विवाद नहीं, सामूहिक नरसंहार है घोरावल कांड : अजय कुमार लल्लू सुरक्षा प्रबंध सराहनीय हैं, लेकिन मेरी सुरक्षा का दायरा कम से कम रखें : प्रियंका वाड्रा
 

मंदिर और स्कूल के पास खुलीं शराब की दुकानें, विभाग बना अंजान


LEKHRAM MAURYA 21/06/2019 17:42:53
28 Views

LUCKNOW. आबकारी विभाग के लिए हर दुकान का नियम अलग हो जाता है। एक दुकान मंदिर के पास तो भी सही और दूसरी स्कूल के पास वह भी सही। एक दुकान स्कूल से 50 मीटर की दूरी पर कई वर्षों से खुली है। कई बार की शिकायत के बाद भी आज तक दुकान नहीं हटाई गयी है। जबकि वह ​दुकान दूसरे गांव के नाम से पंजीकृत है। 

21-06-2019180409Openliquorsh1

यह मामला गहदौं का है। जबकि दूसरा मामला बरगदिया का है। जहां मंदिर से 40 मीटर के दायरे में अंग्रेजी और देशी शराब की दुकाने चल रही हैं। दोनों दुकानें मंदिर के आस पास ही हैं। यहां मंदिर में जाने वाले भक्तों को शराबियों से परेशानी तो है, लेकिन आबकारी विभाग के अधिकारी अनेक नियमों का हवाला देकर दुकान को सही ठहरा देते हैं। इ​सलिए लोग शिकायत कहां करें। 

दूसरी ओर आबकारी विभाग के नम्बर सार्वजनिक नहीं होते हैं। इस सम्बन्ध में जब आबकारी निरीक्षक रमेश विद्यार्थी से बात की गयी तो उन्होंने कहा कि हमें कभी मंदिर नहीं दिखाई पड़ा, जबकि मंदिर का बड़ा सा गेट लगा है और दूर से दिखाई पड़ता है। 

शराब की दुकान नियम विरूद्ध होने की बात करने पर कहा कि यदि मंदिर रजिस्टर्ड होगा तो कार्रवाई कर देंगे। अन्यथा दुकान मालिकों से निवेदन करके दुकान हटवाने का प्रयास करेंगे। दूसरी ओर गहदौं की दुकान नरायनपुर में पंजीकृत है और गहदौं में स्कूल के पास कैसे चल रही है। यह गौर करने वाला विषय है।

Web Title: Open liquor shops near the temple and school, making the district anjan ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया