सतर्कता अधिष्ठान ने शुरू की मायावती शासनकाल के 45 कर्मियों की भ्रष्टाचार व संपत्ति की जांच


NAZO ALI SHEIKH 23/06/2019 09:44:07
104 Views

Lucknow. स्मारक घोटाले में मायावती पर जांच बैठाने के बाद अब उनके शासनकाल के 45 कर्मियों की भ्रष्टाचार व आय से अधिक संपत्ति की जांच सतर्कता अधिष्ठान ने शुरू कर दी है। बता दें कि यह जांच लोकायुक्त की रिपोर्ट के आधार पर की जा रही है। सतर्कता अधिष्ठान के सूत्रों के मुताबिक लोकायुक्त ने अपनी रिपोर्ट राज्यपाल के माध्यम से शासन को भेजी थी। 

यह भी पढ़ें... अफगानिस्तान मैच से पहले विजय शंकर का आया बड़ा बयान

Vigilance Establishment starts probe of property worth more than 45 workers of Mayawati government

रिपोर्ट में खनन विभाग के उन 45 कर्मियों का कच्चा चिट्ठा है, जिन्होंने स्मारकों के निर्माण में नियमों को दरकिनार करते हुए अपने पद का दुरुपयोग कर राज्य सरकार को राजस्व का नुकसान पहुंचाया है। इनमें विभाग के लिपिक, वरिष्ठ लिपिक और निरीक्षक स्तर के कर्मी शामिल हैं। 

  घोटाले की भी होगी जांच

सतर्कता अधिष्ठान मायावती के वर्ष 2007 से 2012 के शासनकाल को दौरान बने करोड़ों रुपयों के स्मारकों में घोटालों की भी जांच की जा रही है। उस दौरान लगभग 2600 करोड़ रुपये की लागत से स्मारक, पार्क और मूर्तियां बनवाई गई थीं। इन पार्कों में डॉ. भीमराव आंबेडकर, कांशीराम और मायावती की मूर्तियां लगी हैं।

आरोप है कि इस स्मारक के निर्माण में बरती गई अनियमितता से सरकारी खजाने को 111 करोड़ रुपये से अधिक का नुकसान हुआ। बाद में मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत प्रवर्तन निदेशालय ने भी इस मामले में जांच शुरू की और कई स्थानों पर छापेमारी की थी।

Web Title: Vigilance Establishment starts probe of property worth more than 45 workers of Mayawati government ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया