उद्यान भवन में किया गया मसाला सम्मेलन एवं प्रदर्शनी का आयोजन


GAURAV SHUKLA 27/06/2019 14:30:05
383 Views

Lucknow. किसानों की आमदनी दोगुना करने की सरकार की प्रतिबद्धताओं को पूरा करने की दिशा में मसाला उत्पादन को बढ़ावा देकर किसानों की आमदनी बढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है, इस संबंध में आज सप्रू मार्ग स्थित उद्यान भवन में केंद्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास मंत्रालय एवं उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग के संयुक्त तत्वावधान में मसाला सम्मेलन एवं प्रदर्शनी का भव्य आयोजन किया गया। जिसमें मसालों के उत्पादन व उनकी प्रोसेसिंग कराने के संबंध में वक्ताओं ने महत्वपूर्ण विचार व्यक्त किये। संगोष्ठी के मुख्य अतिथि इन्टीग्रल यूनिवर्सिटी के फाउंडर चांसलर प्रोफेसर वसीम अख्तर ने इस अवसर पर कहा की मसाला आज की कैश करेंसी है, इसके उत्पादन से किसान बहुत अच्छा फायदा उठा सकते हैं। 

27-06-2019143137uddyanbhawan1
उन्होंने कहा कि भारत में सबसे अच्छी जलवायु, पानी, भूमि आदि हैं। हमारा फर्ज बनता है, कि इस मुल्क को तरक्की की ऊंचाइयों पर ले जाएं और इसके लिए हमें अपने चरित्र और मारल में सच्चाई पैदा करना होगा। इस मुल्क की तरक्की के लिए ईमानदारी के साथ सच्चे रास्ते पर चलना होगा। उन्होंने इस संगोष्ठी के आयोजन में हॉर्टिकल्चर, नाबार्ड व कार्ड जैसी संस्थाओं के सहयोग के लिए सराहना की। उन्होंने यह भी कहा कि मसाला उत्पादन तथा उसकी प्रोसेसिंग के लिए इंटीग्रल यूनिवर्सिटी की तरफ से किसानों को हर सम्भव सहायता उपलब्ध कराये जाने का प्रयास किया जाएगा। इस अवसर पर आए हुए अतिथियों को सम्मानित भी किया गया।                                     
केंद्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास मंत्रालय (कार्ड) के चेयरमैन अनीस अंसारी ने इस अवसर पर सभी अतिथियों का स्वागत किया तथा मसालों की खेती के बारे में अपने सारगर्भित विचार व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि मसालों का वेदों और बाइबिल में भी जिक्र है। भारत मे मसाला सबसे ज्यादा पैदा किया जाता है, लेकिन इसका निर्यात अपेक्षा के अनुरूप नहीं हो पा रहा है। उन्होने कहा कि मसालो का उपयोग देश के हर कोने में होता है और 120 मुल्कों में मसाले का निर्यात होता है। मसाले की खेती बहुत फायदे की खेती है। किसानों मे इसके प्रति जागरूकता पैदा करने की आवश्यकता है और इसकी प्रोसेसिंग के उचित इंतजाम हमें करने हैं। उन्होंने कहा कि मसालों के साथ-साथ किसान भाई, फलों-फूलों आदि की भी खेती करें। उन्होंने कहा कि इस संगोष्ठी के आयोजन से किसानों को मसाला उत्पादन व उसकी प्रोसेसिंग के बारे में अच्छी जानकारी मिल सकेगी और वह अपनी आमदनी बढ़ा सकेंगे।

Web Title: uddyan bhawan me pradarshani ka ayojan ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया