ऐसे करें सूर्य नमस्कार, होंगे चौंकाने वाले फायदे


SHRADDHA SAHU 29/06/2019 12:10:33
146 Views

Lucknow. आजकल की भाग दौड भरी जि‍ंदगी में लोगाें को अनिद्रा, ब्लडप्रेशर, शुगर और न जाने कितनी समस्याओं से इंसान जूझ रहा है। इन सारी परेशानियों का उपाय केवल वह मेडिसीन में खोजता है लेकिन जब तक वह मेडिसीन लेता है तब तक ठीक रहता है फिर कुछ समय बाद जैसे का तैसा हो जाता है।

हमारे भारत ने हमें विरासत में योग दिया है, जिसके फायदे से लोग ज्ञात होकर भी अज्ञानी बने हुए हैं। योग बीमारी को जड से खत्म करता है और स्वस्थ बनाये रखता है। दैनिक जीवन के लिए सरल और सबसे ज्यादा फायदेमंद योग सूर्य नमस्कार है। सूर्य नमस्कार योगासनों में सर्वश्रेष्ठ है। यह शरीर के प्रत्येक अंग के लिए फायदेमंद होता है। इससे आपका शरीर सुडोल और रक्त परिसंचार सुचारू रूप से संचालित होता है, जो लोग प्रतिदिन सूर्य नमस्कार करते हैं, उनकी आयु, प्रज्ञा, बल, वीर्य और तेज बढ़ता है। इसमें 12 चरण होते है।

29-06-2019121532Increaseinth1

1. प्रणाम आसन  
दोनों हाथों को जोड़कर सीधे खड़े हों जाये और श्वास लेते हुए दोनों हाथ बगल से ऊपर उठाएँ और श्वास छोड़ते हुए हथेलियों को जोड़ते हुए छाती के सामने प्रणाम मुद्रा में ले आएँ। अपने नेत्र को बंद कर लेंं।

29-06-2019121538Increaseinth2

2. हस्तउत्तानासन
श्वास भरते हुए अपने दोनों हाथों को कानों से सटाते हुए ऊपर की ओर उठाते है और भुजाओं और गर्दन को पीछे की ओर झुकाएं।

29-06-2019121704Increaseinth3

3. हस्तपाद आसन
इस स्थिति में श्वास को धीरे-धीरे बाहर निकालते हुए आगे की ओर झुके। अपने दोनो हाथों को गर्दन के साथ, कानों से सटे हुए नीचे की तरफ झुकते हुए पैरों की तरफ पृथ्वी को स्पर्श करते हैंं। इसमें घुटने सीधा रहना चाहिए और माथा घुटनों का स्पर्श करते हुए कुछ क्षण इसी स्थिति में रुकें। जिस भी किसी को कमर एवं रीढ़ की परेशानी हो वे इस आसन को न करें।

29-06-2019121722Increaseinth4

4. अश्व संचालन आसन
 इसी स्थिति में श्वास को भरते हुए बाएं पैर को आगे की ओर ले जाएं, दाहिना पैर पीछे ले जाएँ, दाहिने घुटने को ज़मीन पर रख सकते हैं, गर्दन को अधिक पीछे की ओर झुकाएं। टांग तनी हुई सीधी पीछे की ओर खिंचाव और पैर का पंजा खड़ा हुआ।

29-06-2019121832Increaseinth5

5. दंडासन
श्वास लेते हुए बाएँ पैर को पीछे ले जाएँ और संपूर्ण शरीर को सीधी रेखा में रखें। पीछे की ओर शरीर को खिंचाव दें और एड़ियों को पृथ्वी पर मिलाने का प्रयास करें। और गर्दन को थोडी नीचे की तरफ झुका ले। 

29-06-2019121918Increaseinth6

6. अष्टांग नमस्कार
आराम से दोनों घुटने ज़मीन पर लाएँ और श्वास छोडें। नितम्बों को थोड़ा ऊपर उठा दें। पूरे शरीर को आगे की ओर खिसकाएँI अपनी छाती और ठुड्डी को ज़मीन से स्पर्श करायेंं।

29-06-2019122024Increaseinth7

7. भुजंग आसन
इसमें आगे की ओर सरकते हुए, छाती को उठाएँI कुहनियाँ मुड़ी रह सकती हैं। कंधे कानों से दूर और दृष्टि ऊपर की ओर रखें।

29-06-2019122047Increaseinth8

8. पर्वत आसन
श्वास छोड़ते हुए नितम्बों और रीढ़ की हड्डी के निचले से ऊपर की तरफ उठाएँ और छाती को नीचे झुकाकर एक उल्टे वी (˄) के आकार में आ जाएँ।

29-06-2019122115Increaseinth9

9. अश्वसंचालन आसन
इस स्थिती में श्वास लेते हुए दांये पैर दोनों हाथों के बीच से आगे की तरफ ले जाएँ, बाएँ पैर को पीछे की तरफ सरकाते है और घुटने को ज़मीन पर रखते हुए दृष्टि ऊपर की ओर रखते है।

29-06-2019122237Increaseinth10

10. हस्तपाद आसन
श्वास छोड़ते हुए बाएँ और दाएँ पैर को एक साथ एक जगह पर लाएँ, और पूरी तरह से सामने की तरफ झुकते है। हथेलियों को ज़मीन पर ही रहेगी। अगर ज़रूरत हो तो घुटने मोड़ सकते हैं वरना सीधे ही रहने दें। 

29-06-2019122257Increaseinth11

11. हस्तउत्थान आसन
श्वास लेते हुए सीधे खडे होते हुए, रीढ़ की हड्डी को धीरे धीरे ऊपर लाते हैंं और दोनों हाथों को कानों से सटाते हुए ऊपर की ओर तानें तथा भुजाओं और गर्दन को पीछे की ओर झुकाएं।

29-06-2019122305Increaseinth12

12. ताड़ासन
श्वास छोड़ते हुए पहले शरीर सीधा करें फिर हाथों को नीचे लाएँI इस अवस्था में विश्राम करें।

यह भी पढ़ें...'मन की बात’ कार्यक्रम 30 जून से फिर होगा प्रारम्भ

Web Title: Do this like Surya Namaskar, know its benefits. ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया