जनता को गुमराह करने में भाजपा का कोई जवाब नहीं : अखिलेश


RAJNISH KUMAR 05/07/2019 09:19 AM
292 Views

Lucknow. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि लोकलुभावन घोषणाएं करके जनता को गुमराह करने में भाजपा का कोई जवाब नहीं है। पांच साल पहले हुए लोकसभा चुनावों में जनता को अच्छे दिनों का सुनहरा सपना दिखाया गया था। किसानों की कर्जमाफी, फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य डेढ गुना, नौजवानों को नौकरी, मंहगाई, भ्रष्टाचार से छुटकारा जैसे तमाम वादे भी किए गए थे। ये वादे वादे ही रह गए। जनता अच्छे दिनों के फेर में बदहाल होती गई।

akhilesh yadav ne Bjp par lagaya aarop

अखिलेश ने कहा कि भाजपा सरकार का आधा समय व्यतीत होने को है इसलिए यहां भी भाजपा सरकार ने जनता को बहकाने का काम तेज कर दिया है। ताजा मिसाल है दो साल में हर घर को नल से जल देने की और नमामि गंगे का स्मरण कर राज्य सरकार वाहवाही बटोरना चाहती है।

अखिलेश ने कहा कि केन्द्र सरकार के पांचसाल बीत गये गंगा जी से किए वादे के बावजूद गंगा न तो निर्मल हुई और नहीं उसको मैला करने वाले नालों पर रोक लगी है। अब 2020 मार्च तक गंगा को निर्मल बनाने का वादा पर कौन विश्वास करेगा? गंगा के साथ यमुना और काली नदी की सफाई भी जरूरी है। तभी अपेक्षित परिणाम मिलते।

अखिलेश ने कहा कि उत्तर प्रदेश में पेयजल संकट कांफी गंभीर है। बुंदेलखण्ड में बहुत बुरी दशा है। समाजवादी सरकार ने टैंकरो के अलावा तालाबों के पुनरूद्धार का काम भी शुरू किया था। रिकार्ड संख्या में पौधों का वृक्षारोपण कर पर्यावरण संरक्षण का काम किया था। भाजपा सरकार ने इस ओर ध्यान नहीं दिया। यहां तक कि राजधानी लखनऊ के सभी निवासियों को भी शुद्ध पेयजल नहीं मिल पा रहा है। तमाम क्षेत्रों में गंदा या बद्बूदार पानी आने की शिकायतें आम है। कई इलाकों में जलस्तर नीचे जाने से हैण्डपम्प काम नहीं कर पा रहे हैं।

अखिलेश ने कहा कि आंकड़े बताते हैं कि भारत में प्रतिव्यक्ति जल उपलब्धता प्रतिवर्ष 2 प्रतिशत से भी ज्यादा की दर से घट रही थी। ट्यूबवेल के ज्यादा इस्तेमाल से एक तो भूजल स्तर बहुत गिर गया है, दूसरे मिट्टी में लवणता की मात्रा बढ़ती गई है। भारत में तो नदी क्षेत्र वाले इलाकों में भी जलाभाव हो रहा है।

अखिलेश ने कहा कि वर्ष 2015-16 में किए गए चैथे राष्ट्रीय परिवार एवं स्वास्थ्य सर्वेक्षण के अनुसार केवल 30 प्रतिशत भारतीयों तक पेयजल पाइप द्वारा पहुंचता है। ग्रामीण इलाकों में तो 20 प्रतिशत लोगों तक जलापूर्ति सुविधा नहीं पहुंची है। नीति आयोग के अध्ययन के अनुसार वर्ष 2030 तक आपूर्ति की तुलना में जल की मांग दोगुनी से ज्यादा हो जाएगी। इससे भयावह जल संकट की स्थिति बन सकती है। भाजपा स्थिति की गंभीरता को समझने के बजाय उसे बिगाड़ने पर तुली है। इससे प्रदेशवासियों का जीवन संकट में पड़ सकता है।

Web Title: akhilesh yadav ne Bjp par lagaya aarop ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया