व्यापारियों के हित के लिए जल्द ही होगी सीएम से मुलाकात, निकलेंगे सार्थक परिणाम : उपाध्यक्ष मनीश कुमार गुप्ता 


GAURAV SHUKLA 06/07/2019 18:56:03
108 Views

Lucknow. राजधानी में शनिवार को उत्तर प्रदेश व्यापारी कल्याण बोर्ड के उपाध्यक्ष मनीष कुमार गुप्ता ने बताया कि व्यापारियों की प्रमुख समस्याओं को लेकर समय-समय पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को अवगत कराया गया है, जिसका समाधान जल्द ही मुख्यमंत्री के द्वारा किया जाएगा। उन्होंने बताया कि जल्द ही बोर्ड के सदस्यों के साथ इन सभी मुद्दों पर मुख्यमंत्री विचार विमर्श करेंगे। 

06-07-2019185708vyapariyokeh1

उपाध्यक्ष मनीष गुप्ता ने व्यापारी हितों में किये गये कार्यों की चर्चा की और उन्‍होंने बताया कि उद्योगों की स्थापना के अंतर्गत ही प्रदेश में थर्माकोल प्लास्टिक फैक्ट्रियां लगाई गयी थीं जिसमें ऊर्जा विभाग ने 2 वर्ष तक न्यूनतम बिल 500 किलोवाट का भुगतान किया जाना प्रतिबंधित किया था, लेकिन इसी बीच प्रदेश सरकार की ओर से थर्माकोल/प्लास्टिक की बिक्री और निर्माण पर प्रतिबंध लगा दिया गया। जिसके बाद बोर्ड के प्रयासों से ही इन फैक्ट्रियों द्वारा बिल का न्यूनतम भुगतान लिया जाना तत्काल प्रभाव से समाप्त किया गया।

उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से इसके लिए शासनादेश जारी हुआ, जिसके तहत फैक्ट्रियों के बंद होने के दिन से जमा कराई गयी राशि को वापस दिया जाए। उनका कहना था कि इस बात को लेकर भी कहीं कहीं व्यापारियों का शोषण किया जा रहा है जिसको लेकर जल्द ही मुख्यमंत्री से मुलाकात के बाद सार्थक परिणाम सामने आएगा। 

इन मुद्दों पर भी होगा विचार 

* अखाद्य तेलों से हस्तनिर्मित साबुन को जीएसटी की दर 5 प्रतिशत पर समाहित किया जाए। 
* जीएसटी की दर 12 और 18 प्रतिशत को समाप्त कर 15 प्रतिशत किया जाए। 
* 9सी और 3सी तथा 9 एण्ड 9 ए आईटीसी डिमाण्ड का पूरा लाभ मिले। 
* GSTR-1 और GSTR-9 का मिलान करने में आ रही समस्याओं का निराकरण हो और GST फार्म 9 को सरल किया जाए। 
* पिलखुआ वाली हैण्डलूम प्रिन्टेड चादर को करमुक्त शैली में लाने की जीएसटी विभाग के स्तर की कार्यवाही होनी चाहिए।
* गुड़ को कृषि उत्पाद मानते हुए उस पर टैक्स न लगाया जाए। 
* 150 से अधिक इकाईयां बंद होने के बाद बंदी की कगार पर पहुंचे खनन उद्योग के मद्देनजर संपूर्ण खनन और खनिज नीति पर पुनर्विचार किया जाए। 
* जिले में एक अपर पुलिस अधीक्षक और एक अपर जिला अधिकारी स्तर का अधिकारी नामित किया जाए जो व्यापारियों को किसी भी प्रकार की समस्या होने पर कार्यवाही करे। एक सप्ताह के भीतर ही सभी जिलो में यह कार्यवाही पूर्ण हो अधिकारी का नाम व नंबर बोर्ड को उपलब्ध करवाया जाए। 
* 45-50 वर्ष की आयु के किसी भी व्यापारी की मृत्यु हो जाने पर उसके परिवार के लिए बीमा पॉलिसी की व्यवस्था की जाए। 
* मण्डी परिषद की दुकानों को फ्री होल्ड किया जाए। 
* व्यापारी टास्क फोर्स का हो संचालन। 
* व्यापारियों के कर निर्धारण के संबंध में कोई भी निर्णय अधिकारियों के विवेक के आधार पर न लिया जाए। इस कारण व्यापारियों का शोषण होता है साथ ही उनका व्यापार भी प्रभावित होता है। 
* सभी विभागों में समयबद्ध सिंगल विंडो सिस्टम लागू किया जाए और उसकी मॉनीटरिंग उत्तर प्रदेश व्यापारी कल्याण बोर्ड को दी जाए। 
* व्यापारियों को मेडिकल सुविधा प्रदान करने के लिए उत्तर प्रदेश व्यापारी कल्याण बोर्ड के अधीन व्यापारी कल्याण कोष की स्थापना की जाए। 
* व्यापारी/उद्यमी के हितों के लिए व्यापारी पेंशन योजना लागू की जाए और इसका अधिकार क्षेत्र उत्तर प्रदेश व्यापारी कल्याण बोर्ड के पास हो। 
* व्यापारियों के माल की चेकिंग में पुलिस का हस्तक्षेप समाप्त किये जाने को लेकर पूर्व डीजीपी के नियमों का पालन किया जाए। 
* लघु व कुटीर उद्योगों को चलाने के लिए तीम माह के अस्थायी बिजली कनेक्शन चलाने की अनुमति प्रदान की जाए। 
* खुले कपड़े(थान वाला कपड़ा) पर जीएसटी वसूली जाने से व्यापारियों में रोष है। लिहाजा इस तत्काल प्रभाव से समाप्त किया जाए।  

Web Title: vyapariyo ke hit ke liye cm se hogi vyapari kalyan board ki mulakat ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया