इटावा जेल से फिल्मी अंदाज में भाग निकले दो कैदी, एक की मौत 


DEEP KRISHAN SHUKLA 07/07/2019 12:42:56
324 Views

Kanpur. प्रदेश की जेलों में होने वाली गतिविधियां इन दिनों सुर्खियों में हैं। इसी कड़ी में शनिवार रात एक और अध्याय उस समय जुड़ गया जब इटावा के जिला कारागार से दो कैदी फिल्मी अंदाज में फरार हो गया। जेल से भागे कैदियों में एक की मालगाड़ी की चपेट में आने से मौत हो गयी जबकि दूसरा भाग निकलने में सफल रहा। कैदियों के भागने की घटना से जेल प्रशासन में हड़कंप मचा है। घटना ने जेल की सुरक्षा पर सवाल खड़ें कर दिए है। जेल अधीक्षक ने मामले की जांच शुरू कराने की बात कही है। 

07-07-2019124635Twoprisoners1
यूपी की जेले इन दिनों यूं ही सुर्खियों में नहीं हैं। यहां कैदियों को दी जाने वाली सुविधाएं अभी तक जेल की सुरक्षा पर सवाल खड़ें कर ही रही थी कि शनिवार इसका नतीजा भी इटावा में देखने को मिल गया। 
यहां के जिला कारागार में बंद औरैया के फंफूद ग्राम दशहरा निवासी रामानंद पुत्र गोरेलाल और उसका साथी इटावा इकदिल ग्राम महानेपुर निवासी चंद्रप्रकाश उर्फ चंदू पुत्र रामभरोसे उम्रकैद की सजा काट रहे थे। 

07-07-2019124655Twoprisoners2
दोनों को जेल की बैरक नंबर 5-ए में रखा गया था। इस बैरक में इन दोनों के अलावा एक अन्य कैदी भी बंद था। 
रामानंद के अपराधिक इतिहास को देखते हुए इस बैरक में विशेष सुरक्षा लगाई गई थी। बावजूद इसके दोनों कैदी जेल की तमाम सुरक्षा व्यवस्था को धता बताते हुए शनिवार रात फिल्मी अंजाद में जेल से फुर्र हो गए।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दोनों कैदियों ने पहले से छिपा कर रखे बांस को जेल दीवार से लगाया और रस्सी की मदद से दीवार पर चढ़ कर दूसरी ओर कूद गए। 

07-07-2019124755Twoprisoners4
इस मामले में जेल अधीक्षक राज किशोर सिंह ने माना कि कैदियों के भागने के पीछे सुरक्षा कर्मियों से हुई चूक रही। 
कैदियों के पास बांस और रस्सी कैसे पहुंची इसकी जांच की जा रही है। उनका कोई और मददगार तो नहीं था इसके लिए सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली जा रही है। 
साथ ही बैरक में तैनात रहे हेड कांस्टेबल और बंदी रक्षक से भी पूछताछ की जाएगी। 
  तो क्या रामानंद को मौत खींच ले गयी स्टेशन
कहा जाता है कि मौत का समय और जगह पहले से तय होती है। यह कहावत रामानंद की मौत के मामले में चरित्रार्थ होती नजर आई। शायद उसकी मौत भी रेलवे ट्रैक पर ही होनी थी। जो उसे जेल से वहां तक खींच लायी। अनुमान लगाया जा रहा है कि ​जेल से भाग कर स्टेशन पहुंचे दोनों कैदी पुलिस की नजरों से बचने के लिए प​टरियों पर छिप कर ट्रेन आने का इंतजार कर रहे होंगे। इसी बीच उस ट्रैक से गुजरी थ्रू मालगाड़ी की चपेट में आने से उसकी मौत हो गयी। 

यह भी पढ़ें...इस नेता ने भाजपा और आरएसएस की मानसिकता को बताया मॉब लिंचिंग की वजह

 

 

 

 

Web Title: Two prisoners escaped from Etawah jail in filmy style ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया