साध्वी प्रज्ञा ठाकुर की बढ़ी मुश्किलें, निर्वाचन को हाईकोर्ट में चुनौती


NAZO ALI SHEIKH 10/07/2019 10:07:12
63 Views

New Delhi. लोकसभा चुनाव 2019 में भारतीय जनता पार्टी ने ऐतिहासिक जीत दर्ज करते हुए केन्द्र में सरकार तो बना ली है। लेकिन बीजेपी सांसदों की मुसीबतें रुकने का नाम नहीं ले रही है। मालेगांव ब्लॉस्ट आरोपी प्रज्ञा चुनावों के दौर से ही राजनीति में भी विवादित ही रही हैं। मध्य प्रदेश हाईकोर्ट में सांसद प्रज्ञा ठाकुर सहित अन्य बीजेपी सांसदों के खिलाफ 19 याचिकाएं दाखिल करते हुए चुनौती दी गई है। 

Pradnya Thakur s increased difficulties, challenge to elections in the High Court

बताते चलें कि याचिकाओं में प्रज्ञा के निर्वाचन को भी चुनौती दी गई है। 17 कांग्रेसी प्रत्याशियों और दो आम मतदाताओं ने ये याचिकाएं डाली हैं। याचिका में ईवीएम की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाया गया है। भोपाल के एक पत्रकार राकेश दीक्षित ने वोटर के तौर पर याचिका डालते हुए प्रज्ञा की जीत पर आरोप लगाया। आरोप यह है कि प्रज्ञा ने चुनाव जीतने के लिए सांप्रदायिक भावनाओं को भड़काने का काम किया। यही नहीं वह भ्रष्ट आचरण में लिप्त थीं। उन्होंने दावा करते हुए यह भी किया कि प्रचार के दौरान प्रज्ञा ने धार्मिक आधार पर भाषण देकर जनप्रतिनिधि अधिनियम की धारा 123 का उल्लंघन किया है। 

राज कुमार चौहान ने भाजपा सांसद ऋति पाठक के खिलाफ याचिका दायर करते हुए उनकी जीत को चुनौती दी है। साथ ही ईवीएम की कार्यप्रणाली को लेकर संदेह जाहिर किया है। चौहान के वकील संजय अग्रवाल का कहना है कि उनके मुवक्किल का ये कहना है कि 23 मई को मतगणना के लिए जब मशीनों को खोला गया तो 99 प्रतिशत ईवीएम की बैट्रियां चार्ज थीं। वहीं, दूसरी ओर संजय अग्रवाल का कहना है कि कांग्रेस एजेंट गुलाब सिंह ने चुनाव आयोग से इस बाबत शिकायत की थी। इसके बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई थी। उक्त याचिकाओं के अलावा 17 याचिकाएं और हाईकोर्ट में डाली गई हैं। 

Web Title: Pradnya Thakur s increased difficulties, challenge to elections in the High Court ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया