मुख्य समाचार
UPTET : हाईकोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट ने किया निरस्त, 1 लाख से ज्यादा शिक्षकों को मिली राहत अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर बोला करारा हमला, कहा- नौजवानों की जिन्दगी में ... फतेहपुर में प्रतिबंधित मांस मिलने पर बवाल, मदरसे पर पथराव साक्षी मामले पर मालिनी अवस्थी का बड़ा बयान, लड़कियां जीवन साथी चुनें लेकिन... यूपी पुलिस को मिली बड़ी सफलता, दो इनामी बदमाश किए ढेर वरिष्ठ पत्रकार बरखा दत्त ने कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल पर लगाए गम्भीर आरोप, मचा घमासान अंतिम संस्कार की चल रही थी तैयारी, अचानक युवक की खुली आंखे और फिर जो हुआ... सरकारी आवास के मोह पॉश में जकड़े दो पूर्व मंत्रियों को गहलोत सरकार ने दिया जुर्माने का झटका सलमान संग फिल्मों में डेब्यू कर सुपरस्टार बनीं कटरीना का नहीं है कोई क्राइम रिकॉर्ड 149 साल बाद बन रहा गुरू पूर्णिमा पर चंद्र दुर्लभ योग सपा नेता अखिलेश यादव की गोली मारकर हत्या, सियासत में भूचाल
 

मायावती के करीबी अफसर पर चला सीबीआई का डंडा, इस मामले में कार्रवाई


NAZO ALI SHEIKH 10/07/2019 16:38:58
25 Views

New Delhi. भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने के बाद से विपक्षी पार्टियों के नेताओं और पूर्व के सरकार में रहे अफसरों पर सीबीआई की छापेमारी तेज हो गई है। सरकार ने भ्रष्टाचार में लिप्त सभी अफसरों पर नकेल कसने के लिए यह सख्त कदम उठाया है। लेकिन विपक्षी पार्टियों ने इस तरह की छापेमारी को बदले की भावना और सीबीआई का दुरुपयोग करार दिया है। सरकार और विपक्ष के बीच जंग रुकने का नाम नहीं ले रही है। बताते चलें कि इसके पहले सीबीआई ने सपा मुखिया मुलायम सिंह और अखिलेश यादव को क्लीन चिट दे दिया था। इसके बाद भी सीबीआई की छापेमारी अफसरों और नेताओं के खिलाफ रुक नहीं रही है। 

10-07-2019164018CBIcloseson1

सीबीआई ने गत मंगलवार को देश भर में ताबड़तोड़ छापेमारी की। लखनऊ में सीबीआई ने पूर्व आईएएस नेतराम और विनय प्रिय दुबे के घर व संपत्तियों पर छापा मारा। बताया जा रहा कि सीबीआई को छापेमारी में अहम सुराग मिले हैं। नेतराम बसपा सुप्रीमो मायावती के करीबी माने जाते हैं। कुछ महीने पहले ही आय से अधिक संपत्ति मामले में इंकम टैक्स डिपार्टमेंट ने नेतराम के यहां छापेमारी की थी। लेकिन अब सीबीआई का डंडा चला है। 

आपको बता दें कि सीबीआई ने पूर्व आईएएस नेतराम के गोमतीनगर विशाल खंड स्थित आवास में छापेमारी की। वहीं, अलीगंज में रिटायर्ड आईएएस विनय प्रिय दुबे के घर पर रेड मारा। ये नेता मायावती के शासनकाल में करीबी माने जाते थे। नेतराम प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री के साथ ही गन्ना और चीनी विकास के भी प्रमुख सचिव थे। वहीं, विनय दुबे चीनी निगम के प्रबंध निदेशक पद पर कार्यरत थे। गौरतलब है कि मायावती के शासनकाल में यह आरोन लगा था कि चीनी मिलों को औनेपौने दाम में बेच दिया गया था। इसके बाद नेतराम पर सीबीआई ने केस दर्ज किया था। केस दर्ज किए सालों हो गया, लेकिन सीबीआई का डंडा देर से ही सही चलने लगा है। बताया जा रहा कि ईडी भी चीनी मिल घोटाले को लेकर शिकंजा कस सकता है। घोटाले को लेकर मनी लॉन्ड्रिंग की आशंका जताई है।

Web Title: CBI closes on Mayawati's close aide, action in this case ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया