गायों की मौतों के मामले में सीएम योगी का एक्शन, आठ अधिकारी सस्पेंड


ABHIMANYU VERMA 15/07/2019 08:35 AM
143 Views

Lucknow. यूपी की गौशालाओं में गायों की मौतों के मामले में सीएम योगी आदित्यनाथ ने सख्ती दिखाई है। इस मामले में सीएम ने अफसरों को संस्पेंड कर दिया है। वहीं, अयोध्या और मिर्जापुर के डीएम समेत कई अफसरों से जवाब तलब किया गया है। 

In case of death of cows eight officers suspended in Ayodhya and Mirzapur

जानकारी के मुताबिक सीएम योगी ने रविवार को वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिये जिलाधिकारियों से बातचीत की और अयोध्या, प्रयागराज और मिर्जापुर के मंडलायुक्तों को निर्देश दिया है कि अन्य जिम्मेदारों के खिलाफ कार्रवाई करें। 

सीएम ने अफसरों को फटकार लगाते हुए कहा कि अगर अफसरों की लापरवाही से गोवंशों की मौत हुई तो दोषियों के खिलाफ गोवध निवारण अधिनियम और पशु क्रूरता अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाएगी। 

अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि वे अर्जुनगंज, शहीद पथ और शहर के अन्य हिस्सों से निराश्रित गोवंशों को हटाकर कान्हा उपवन में रखने की व्यवस्था करवाएं। 

बता दें कि यूपी में के गौशालाओं की हालत चिंताजनक है। पिछ्ले दिनों प्रयागराज की एक गौशाला में 35 गायों के मौत की खबर आयी थी। वहीं, जौनपुर में ग्रामीण पिछ्ले तीन दिनों में 40 से अधिक पशुओं की मौत का दावा कर रहे हैं। इसके अलावा आज़मगढ़ में तीन दिन में कुल 20 पशुओं की मौत हो चुकी है।

इन अधिकारियों को किया गया सस्पेंड

  • यशोवर्धन सिंह (बीडीओ मिल्कीपुर) 
  • डॉक्‍टर श्रीकृष्ण (उप मुख्य पशु चिकित्साधिकारी, मिल्कीपुर), 
  • इच्छाराम प्रियदर्शी (ग्राम पंचायत अधिकारी, पलियामाफ़ी, मिल्कीपुर) 
  • डॉ उपेंद्र कुमार (कांजी हिउसे प्रभारी अयोध्या) 
  • डॉक्‍टर विजेंद्र कुमार (गोशाला प्रभारी अयोध्या) 
  • डॉक्‍टर एके सिंह (मुख्य चिकित्साधिकारी मिर्जापुर)
  • मुकेश कुमार (अधिशासी अधिकारी मिर्जापुर नगर पालिका)
  • रामजी उपाध्याय (अभियंता मिर्जापुर नगर पालिका)
Web Title: In case of death of cows eight officers suspended in Ayodhya and Mirzapur ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया