149 साल बाद बन रहा गुरू पूर्णिमा पर चंद्र दुर्लभ योग


DEEP KRISHAN SHUKLA 16/07/2019 11:10:46
161 Views

Lucknow. चंद्र ग्रहण का 149 साल के बाद बन रहे दुर्लभ योग कारण प्रयागराज के बड़ें हनुमान मंदिर के कपाट नौ घंटे पहले ही बंद हो जाएगें। गुरू पूर्णिमा पर पड़ने वाले चंद्र ग्रहण पर लग रहे सूतक के चलते कपाट बंद रहने की बात मंदिर के महंत नरेंद्र गिरी ने कही है। देश भर के विभिन्न मंदिरों में लगभग यही प्रक्रिया अपनाई जाएगी।  

16-07-2019111646Lunareclipse1
बता दें कि 15 जुलाई को पड़ रहे चंद्र ग्रण पर ज्योतिषियों के मुताबिक 149 साल के बाद दुर्लभ संयोग बन रहा है। 
इससे पहले 12 जुलाई ,1870 को शनि, केतु और चंद्र के साथ धनु राशि में स्थित था। सूर्य, राहु के साथ मिथुन राशि में स्थित था। 
इस बार भी इसी योग में चंद्र ग्रहण लगेगा। यह चंद्र ग्रहण भारत में दिखाई देगा। यह दुर्लभ योग इस बार फिर बन रहा है। 
चंद्र ग्रहण का सूतक 9 घंटे पहले लग जाएगा। इसके चलते सभी मंदिरों के पट बंद कर दिए जाएगें। अगले दिन सुबह साफ सफाई के बाद ही दर्शनार्थियों के लिए मंदिरों के कपाट खुलेगें। 
ग्रहण के दुष्प्रभावों से बचने के लिए कुछ खास उपाय करने होते है। पकी हुई खाद्य सामग्री ग्रहण भूल कर भी न खाए। इन्हें अगले दिन गाय या कुत्ते को डाल दें।

16-07-2019111705Lunareclipse2

खाद्य पदार्थों में कुश रखने से उनके ग्रहण के दोष नहीं रहते है। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार गर्भवती महिलाओं को ग्रहण नहीं देखना चाहिए। घरों की दीवारों पर गेरुआ के चिह्न लगाने चाहिए। 
  अयोध्या में दोपहर 12 बजे तक ही मनाई जाएगी गुरू पूर्णिमा
आयोध्या में गुरू पूर्णिमा पर चंद्र ग्रहण का प्रभाव साफ दिख रहा है। यहां ग्रहण का सूतक दोपहर 12 बजे से ही शुरू हो जाएगा। लिहाजा 12 बजे तक ही पूर्णिमा का पर्व मनाया जाएगा। श्री रामलला दर्शन भी मंगलवार को सिर्फ एक पहर ही हो सकेगें। के एक ही पहर दर्शन होगा।

16-07-2019111726Lunareclipse3
  2 घंटे 58 मिनट तक रहेगा ग्रहण
ज्योतिष के अनुसार चंद्र ग्रहण का नजारा करीब 3 घंटे तक दिखाई देगा। चंद्र ग्रहण का सूतक 16 जुलाई को दोपहर 3 बजे से लग जाएगा और 17 जुलाई को सुबह 4.30 बजे तक रहेगा। इससे पहले गुरु पूजन किया जा सकेगा। 16 जुलाई की मध्य रात्रि 1.32 बजे ग्रहण का स्पर्श होगा और ग्रहण रात 3.01 बजे तक रहेगा। कुल मिला कर 2 घण्टे 58 मिनट का ग्रहण काल है। 

16-07-2019111746Lunareclipse4
  भारत के अलावा इन देशों में दिखेगा चंद्र ग्रहण का नजारा
यह चंद्र ग्रहण भारत के अलावा कई देशों में गोचर होगा। आस्ट्रेलिया, अफ्रीका, एशिया, यूरोप और दक्षिण अमेरिका में इस चंद्र ग्रहण को देखा जा सकेगा। यह इस साल का आखिरी चंद्र ग्रहण भी है। 

यह भी पढ़ें...दिल्ली पुलिस ने श्रीनगर से जैश आतंकी को किया गिरफ्तार



 

 

 

 

 

Web Title: Lunar eclipse rare yoga on Guru Purnima after 149 years ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया