सोनभद्र: 90 बीघा जमीन के लिए हुआ खूनी संघर्ष, 11 की मौत


DEEP KRISHAN SHUKLA 18/07/2019 09:20:41
133 Views

Lucknow. सोनभद्र जिले में 90 बीघा जमीन पर कब्जेदारी को लेकर हुए खूनी संघर्ष में एक पक्ष के 11 लोगों की मौत हो गयी। इस घटना में 25 से अधिक लोग घायल है। खास बात यह है कि इस घटना में एक आईएएस का नाम भी आ रहा है। घटना घोरावल कोतवाली क्षेत्र की ग्राम पंचायत मूर्तिया के उम्भा गांव की है। पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए अब तक 12 लोगों को गिरफ्तार किया है। 

18-07-2019092614SonbhadraBlo1
मिली जानकारी के अनुसार आदिवासी बाहुल इस गांव में संघर्ष की वजह 90 बीघा जमीन बनी। यह जमीन पूर्व आईएएस की पत्नी आशा मिश्रा और उनकी बेटी ने ग्राम प्रधान यज्ञदत्त भूरिया को बेंची थी। 
जमीन पर कब्जे को लेकर ही यहां के गुर्जर और गोंड विरादरी के बीच हुए खूनी संघर्ष उस समय हुआ बुधवार दोपहर प्रधान अपने 200 लोगों को लेकर जमीन कब्जाने पहुंचा। 

18-07-2019092707SonbhadraBlo2
ग्रामीणों ने विरोध किया तो ताबड़तोड़ गोलियां बरसा कर 11 लोगों को मौत के घाट उतार दिया गया।डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि दो साल से इस जमीन को कब्जाने का प्रयास चल रहा था। जिस पर स्थानीय पुलिस संभावित निरोधात्मक कार्रवाई भी दो माह पहले कर चुकी है। 
उन्होंने यह भी कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो आईएएस अधिका​री पर भी कार्रवाई की जाएगी। दरअसल इस जमीन को आदिवासी अपनी मानते है। उसकी जीविका के एकमात्र साधन इस जमीन पर ही खेतीबाड़ी कर वे अपने परिवार का पेट पालते हैं। 

18-07-2019092824SonbhadraBlo4
  आजादी के पहले से जमीन पर है आदिवासियों का कब्जा
देश की आजादी से पहले से आदिवासी इस जमीन पर काबिज हैं। बताया जा रहा है कि 1955 में बिहार के आईएएस प्रभात कुमार मिश्रा और तत्कालीन ग्राम प्रधान ने तहसीलदार के माध्यम से जमीन को आर्दश कोआपरेटिव सोसाइटी के नाम तो करा लिया। लेकिन तहसीलदार के पास नामान्तरण के अधिकार न होने के कारण यह जमीन उनके नाम नहीं चढ़ सकी। इसके बाद आईएस ने नियमों को ताक पर रखते हुए यह जमीन 6 सितंबर 1989 को अपनी पत्नी और बेटी के नाम जमीन करवा दी। इस जमीन को ग्राम प्रधान यज्ञदत्त को बेंच दिया गया। जिसे उसने अपने किसी रिश्तेदार के नाम करा दिया। 

18-07-2019092731SonbhadraBlo3
  कानून व्यवस्था पर उठ रहें सवाल, अखिलेश ने किया ट्वीट
जमीन कब्जाने को लेकर हुए बड़ें पैमाने पर रक्तपात ने यूपी पुलिस कार्रशैली को लेकर चहुंओर सवाल उठ रहे हैं। राजनीतिक गलियारों में घटना को लेकर योगी सरकार पर भी सवाल खड़े किए जा रहे हैं। पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने भी इस घटना पर ट्वीट कर दु:ख जताया साथ ही उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाएं साबित करती हैं कि सूबे में अपराधियों में पुलिस का भय नहीं बचा है। 


यह भी पढ़ें...बाहुबली अतीक अहमद के ठिकानों पर सीबीआई ने मारा छापा

 

 

 

 

 

Web Title: Sonbhadra: Bloody conflicts for 90 bighas of land, 11 deaths ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया