मोदी सरकार 2 के पहले सत्र में 90 फीसदी सांसदों को बोलने का मिला मौका


RAGHVENDRA CHAURASIA 20/07/2019 09:54 AM
56 Views

New Delhi. मोदी सरकार 2 का पहला सत्र सबसे लंबे शून्यकाल का रिकॉर्ड है। एक रिकॉर्ड के मुताबिक सदन में 162 सांसदों ने मुद्दे उठाए। एक महीने से चल रहे पहले सत्र की उत्पादकता फिलहाल 130 फीसदी है। प्रश्नकाल में हर रोज 3 से 4 सवाल की जगह 8 से 9 सवाल पूछे जा रहे हैं। इसके अलावा ऐसा पहली बार हुआ है जब 90 सांसदों को पहली ही सत्र में बोलने का मौका मिला हो। 

Modi government

पहले ही सत्र में नौ बिलों को मंजूरी मिली

लोकसभा के स्पीकर ओम बिड़ला ने बीते गुरुवार को सबसे लंबी अविध (4 घंटे 48 मिनट) का रिकॉर्ड बनाया है। गुरुवार को कार्यवाही रात 11 बजे तक चली। इस दौरान 30 फीसदी सांसदों ने मुद्दे उठाए। लोकसभा सचिवालय के सूत्रों के मुताबिक अब तक इतनी लंबी अविध के शून्यकाल का कोई रिकॉर्ड नहीं रहा है। इससे पहले शून्यकाल में कभी भी 70 से अधिक सांसदों ने मुद्दे नहीं उठाए हैं। पहले ही सत्र में अब तक नौ​ बिलों को मंजूरी मिल चुकी है। 

देर रात तक सत्र चलने से कर्मचारियों पर पड़ा असर

लोकसभा की कार्यवाही देर रात तक चलने के कारण कर्मचारियों पर इसका सीधा असर पड़ा है। देर रात तक सदन की कार्यवाही जारी रहने पर कर्मचारियों के लिए खानपान की व्यवस्था रही है। मगर गुरुवार को कर्मचारियों को खाने के लाले पड़ गए। गुरुवार को सदन की कार्यवाही 11 बजे रात तक चली,मगर इनके लिए रात के खाने का कोई इंतजाम नहीं किया गया। देर रात कार्यवाही के कारण ज्यादातर कर्मचारी आधी रात को घर पहुंचे और शुक्रवार को पुन:9 बजे कार्यालय में उपस्थित हुए।

 

Web Title: Modi government's first session is the longest zero-time ration card, 90 percent MPs got the chance to speak ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया