आजम पर भारी पड़ रही डीएम से मायावती के जूते साफ करवाने की ख्वाहिश 


GAURAV SHUKLA 20/07/2019 15:47:16
193 Views

Lucknow. समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता और रामपुर से सांसद आजम खां की मुश्किलें इन दिनों बढ़ती नजर आ रही हैंं। अक्सर अपने विवादित बयानों को लेकर सुर्खियों में रहने वाले आजम खां अब भू माफिया बनने के बाद चर्चाओं में हैं। जौहर विश्वविद्यालय के लिए किसानों की जमीन कब्जाने के आरोप में फंसे आजम को भू माफिया घोषित कर दिया गया है। आजम के खिलाफ पिछले 10 दिनों में 23 मामले दर्ज किये जा चुके हैं। हालांकि अपने ऊपर दर्ज हो रहे मामलों को लेकर आजम का कहना है कि उनके खिलाफ राजनीति हो रही है और लगाए जा रहे सभी आरोप बेबुनियाद और निराधार हैं। 

20-07-2019155307azamkhakekh1

बयान पड़ गया आजम पर भारी 

आजम खां ने बीते दिनों अप्रैल माह में चुनावी सभा में रामपुर के डीएम को निशाने पर लेते हुए कहा था कि वह चुनाव के बाद कलेक्टर से जूते साफ करवाएंगे। कथिततौर पर आजम को यही बयान भारी पड़ रहा है। आजम ने जनसभा में कहा था कि सब डटे रहो... ये कलेक्टर पलेक्टर से मत डरो। ये तनख्वहियां है, हम तनख्वहियों से नहीं डरते। कैसे-कैसे बड़े-बड़े अफसर रुमाल निकालकर मायावती जी के जूते साफ करते हैं। हमारा उन्हीं से गठबंधन है और उन्हीं के जूते साफ कराऊंगा।' हालांकि लोकसभा चुनाव के बाद सपा-बसपा का गठबंधन भी समाप्त हो गया और आजम की मुश्किले भी तब से बढ़ती जा रही हैं। 

गौरतलब है कि आजम को भू माफिया घोषित किये जाने को लेकर डीएम आन्जनेय कुमार सिंह ने कहा था कि शासनादेश के अनुसार ऐसे लोगों को भूमाफिया घोषित किया जाता है जो दबंगई से जमीनों पर कब्जा करते हैं। इसके बाद वह अवैध कब्जे को छोड़ने को तैयार नहीं होते। जिनके खिलाफ पुलिस में भी केस दर्ज होता है उनका नाम उत्तर प्रदेश एंटी भू माफिया पोर्टल पर दर्ज कराया जाता है।

बता दें सांसद आजम खां और उनके एक सहयोगी के खिलाफ 26 किसानों की 5 हजार हेक्टेयर जमीन हड़प जौहर यूनिवर्सिटी के निर्माण में इस्तेमाल किये जाने का आरोप है। जिसके बाद आजम के खिलाफ दर्ज मुकदमों की विवेचना 3 सदस्यीय स्पेशल टीम करेगी। 

Web Title: azam kha ke khilaaf darj ho rahe mamle ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया