आइना: 70 साल 'लूट' के बाद भी इस सांसद की कार के लिए चंदा जुटाने को विवश हैं कांग्रेसी!


DEEP KRISHAN SHUKLA 21/07/2019 14:16:32
478 Views

New Delhi. सांसद और विधायक का नाम आते रईसी ठाठ बाठ और शान-ओ-शौकत की तस्वीर जेहन में कौंध जाती है। फिर जब बात कांग्रेस के सांसद की हो तब तो इसकी संभावना और बढ़ जाती है। ऐसा इसलिए नहीं कांग्रेस के लोग धनाढ्य ही होते है बल्कि चुनावी माहौल में लोगों के जेहन में यह बात इस तरह से फीड कर दी गयी है कि अपने 70 सालों के राज में कांग्रेस ने देश को लूटा है। ऐसे लोगों के लिए केरल की युवा सांसद राम्या हरिदास वह आईना है कि जो सुनी सुनाई बातों को झुठला कर हकीकत की तस्वीर पेश करती नजर आती है। इस महिला कांग्रेस सांसद के लिए एक अदद कार जुटाने के लिए युवा कांग्रेस कार्यकर्ता चंदा इकट्ठा कर रहे हैंं। 

21-07-2019142316MirrorEvena1
केरल राज्य से इस बार एक मात्र महिला सांसद बनी राम्या हरिदास पहली बार संसद पहुंची है।निचले सदन में राज्य के अलाथुर संसदीय क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करने वाली राम्या के पास कार नहीं है। 
हलांकि इस बात का राम्या को कोई मलाल भी नहीं है। लेकिन उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं को सांसद का पैदल चलना भा नहीं रहा है। 
हो भी क्यों न आखिर बड़े क्षेत्र की जरूरत को पैदल घूम कर न तो जाना जा सकता है और न ही पूरा किया जा सकता है। 
इसके लिए कार्यकर्ताओं ने 'क्राउड फंडिंग' यानि कि चंदा करने का फैसला लिया है। राम्या के संसदीय क्षेत्र अलाथुर इकाई के अध्यक्ष पलायम प्रदीप ने इसके लिए फेसबुक पोस्ट किया है। जिसमें उन्होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को अपनी क्राउड फंडिंग की योजना की जानकारी दी है। हलांकि उन्होंने यह भी कहा कि इसमें जो भी योगदान करना चाहता है वह कर सकता है। उन्होंने कहा है कि आगामी 9 अगस्त को राज्य की विधान सभा में विपक्ष के नेता हमारी सांसद राम्या हरिदास को कार की चाबी सौंपेगे। 
राम्या हरिदास से लोगों से मिल रहे इस अपनेपन से अभीभूत नजर आ रही हैं। उनका कहना है कि मैं स्वयं को गौरवांवित महसूस कर रही हूं। 
  प्रत्याशियों में राहुल गांधी की पहली पसंद थी राम्या
एक साधरण परिवार में जन्मी मजदूर पिता की ​बेटी राम्या का राजनीतिक सफरनामा बेहद दिलचस्प है। वर्ष 2010 में कांग्रेस पार्टी ने भविष्य का नेता चुनने के लिए गांधी टैलेंट हंट 'भविष्य का नेता' कार्यक्रम चलाया था। इस कार्यक्रम में राम्या टॉपर रही थी। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के लिए अलाथुर संसदीय क्षेत्र के प्रत्याशियों में राम्या पहली पसंद थी। 
  गाना गाकर किया प्रचार और मनाया जीत का जश्न
33 वर्ष की उम्र में राज्य से इकलौती महिला सांसद चुने जाने का गौरव हासिल करने वाली राम्या ने सुर ही उन्हें बिना किसी संसाधन में चुनाव में जीत दिलाने का ब्रम्हास्त्र बना। हलांकि इसके लिए उन्हें कुछ लोगों के कटाक्ष भी झेलने पड़ें गाने गा कर वह अपना चुनाव प्रचार करती थी और अपनी जीत का जश्न भी उन्होंने गाना गाकर ही मनाया। प्रचार के दौरान लोग उनका मजाक भी उड़ाते थे कि पहले या तो गाना गा लो या फिर चुनाव लड़ लो। उनकी आवाज की सच्चाई लोगों को इस कदर भाई कि उन्हें अपना नेता बना लिया। 

यह भी पढ़ें...सोनभद्र: सीएम के दौरे को पुलिस ने कसा शिकंजा, पूर्व विधायक समेत कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी

 

 

Web Title: Mirror: Even after 70 years of looting Congress has to do crowd funding to arrange a car for this MP ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया