फिल्म निर्माण के लिए उत्तर प्रदेश में है बेहतर माहौल और सुविधाएँ : अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी


GAURAV SHUKLA 29/07/2019 10:30:54
123 Views

Lucknow. राजधानी गोमती नगर स्थित इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान में रविवार को सम्पन्न  ग्राउण्ड ब्रेकिंग सेरेमनी-2 में  ‘टूरिज्म और फिल्म’ का सेशन भी आयोजित हुआ। इस सेशन को सम्बोधित करते हुए अवनीश कुमार अवस्थी अपर मुख्य सचिव सूचना, पर्यटन एवं धर्मार्थ कार्य विभाग ने कहा कि प्रदेश में फिल्म  निर्माताओं को फिल्म निर्माण के लिए बेहतर माहौल और सुविधाएँ मिलेंगी। वाराणसी में फिल्म सिटी के लिए भूमि चिन्हित की जा चुकी है। उत्तर प्रदेश  फिल्म निर्माण  की दृष्टि से एक बड़े हब के रूप में अपनी पहचान बना रहा है।

29-07-2019111749filmkenirman1
अपर मुख्य सचिव  ने  कहा  कि प्रदेश के सांस्कृतिक, पौराणिक, ऐतिहासिक धरोहरों और भव्य परम्पराओं को देश  और देश के बाहर विश्व स्तर तक प्रसारित करने के उद्देश्य से उ0प्र0 सरकार ने वर्ष 2018 में अपनी फिल्म पाॅलिसी घोषित की। इस नई नीति से अब प्रदेश और प्रदेश के बाहर के कलाकारों और फिल्म निर्माताओं को फिल्म निर्माण के लिए अनुकूल वातावरण और  सुविधायें दी जायेंगी। उन्होंने बताया कि ‘फिल्म बन्धु उ0प्र0’ एक नोडल एजेन्सी के रूप में अपना योगदान दे रही है। ये एजेन्सी प्रदेश में फिल्म निर्माण सम्बन्धी सुविधायें एक ही छत के नीचे उपलब्ध कराती है। ’फिल्म बन्धु‘ उत्तर प्रदेश को फिल्म निर्माण का हब (केन्द्र) बनाने की दिशा में कार्य कर रहा है। फिल्म से सम्बन्धित गतिविधियों को बढ़ावा देकर  और फिल्म निर्माण के लिए मैत्रीपूर्ण वातावरण उत्पन्न करके फिल्म बन्धु प्रदेश की अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान स्थापित कर रहा है। 
प्रदेश सरकार ने भी फिल्म निर्माण सम्बन्धी गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं। ऐसी फिल्में जिनका निर्माण प्रदेश में हुआ है, उनके लिए सरकार द्वारा एक ‘फिल्म निर्माण फण्ड‘ भी स्थापित किया गया है। छात्रों को स्काॅलरशिप, फिल्म उपकरणों की व्यवस्था और फिल्म सम्बन्धी गतिविधियों को बढ़ावा दिया जायेगा। प्रदेश में फिल्म क्षेत्र के दीर्घकालिक और अर्थपूर्ण विकास के लिए एक फिल्म निर्माण परिषद् भी बनाया गया है। अवनीश अवस्थी ने सेशन में बताया कि  प्रदेश में फिल्म के निर्माण पर जो सुविधाएं दी जा रही है उनमें मुख्य रूप से उ0प्र0 में फिल्म की 50 प्रतिशत या उससे अधिक की गयी शूटिंग पर अनुदान की सुविधा है। फिल्मों के कुल शूटिंग दिवसों में से कम से कम आधे दिवसों की शूटिंग उत्तर प्रदेश में होने पर अनुदान की अधिकतम सीमा रू0 एक करोड़ तक होगी। फिल्मों की कुल शूटिंग दिवसों में से दो  तिहाई दिवसों की शूटिंग उत्तर प्रदेश में करने पर अनुदान की अधिकतम सीमा 02 करोड़  तक होगी।
उत्तर प्रदेश में निर्मित फिल्म के लागत की 25 प्रतिशत, अधिकतम रू0 दो करोड़ का अनुदान दिया जायेगा। क्षेत्रीय भाषा की फिल्मों के निर्माण पर लागत का 50 प्रतिशत, अधिकतम रू0 दो करोड़ का अनुदान दिया जायेगा। फिल्म में उत्तर प्रदेश के पांच प्रमुख कलाकार होने पर रू0 पच्चीस लाख तक की अतिरिक्त अनुदान की व्यवस्था है। फिल्म में उत्तर प्रदेश के समस्त कलाकार होने पर रू0 पचास लाख तक की अतिरिक्त अनुदान की व्यवस्था है। यदि कोई निवेशक उत्तर प्रदेश के बड़े शहरों में (नोएडा/ग्रेटर नोएडा को छोड़कर) फिल्म प्रशिक्षण संस्थान खोलता है, तो लागत का 50 प्रतिशत अथवा रू0 50 लाख में से जो भी कम हो, का अधिकतम अनुदान स्वीकृत किया जा सकेगा। उन्होंने कहा  फिल्मकारों के लिए स्वीकृत लगभग ११ करोड़ के अनुदान का वितरण भी शीघ्र ही  किया जायेगा। 

film ke nirman ke liye up me behtar mahool
  सेशन में विशेषज्ञ वक्ताओं द्वारा भी उत्तर प्रदेश में फिल्म निर्माण को बढ़ावा देने के सम्बन्ध में अपने विचार प्रस्तुत किये गए जिसमें एयर इंडिया के चेयरमैन अश्वनी लोहानी ,सेंट्रल बोर्ड ऑफ़ फिल्म सर्टिफिकेशन के चेयरमैन प्रसून जोशी ,फिल्म विकास परिषद् के अध्यक्ष एवं प्रसिद्द हास्य अभिनेता राजू श्रीवास्तव , ऐबिक्सकैश के हेड श्री प्रकाश वेंकटरमानी, प्रसिद्द फिल्म निर्माता-निर्देशक श्री सुभाष घई,फिल्म निर्माता बोनी कपूर ,अभिनेता दिनेश लाल यादव (निरहुआ)  आदि अपने क्षेत्र के वरिठ प्रतिभाओं ने प्रदेश में फिल्म में फिल्म निर्माण के लिए बेहतर सुविधाओं के विकास पर अपने सुझावों से अवगत कराया। फिल्म निर्माता बोनी कपूर ने अजय देवगन को लेकर बनायी जा रही अपनी आगामी फिल्म की शूटिंग उत्तर प्रदेश में करने की घोषणा की। 

 

Web Title: film ke nirman ke liye up me behtar mahool ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया