अमित शाह बोले, हालात सुधरे तो फिर केंद्र शासित से पूर्ण राज्य बनेगा जम्मू-कश्मीर


RAJNISH KUMAR 05/08/2019 18:58 PM
54 Views

New Delhi. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू कश्मीर को विभाजित कर दो केंद्र शासित प्रदेश बनाने को लेकर कहा कि भविष्य में हालात सुधरने पर फिर से सूबे को पूर्ण राज्य का दर्जा दिया जाएगा। उन्होंने अनुच्छेद 370 हटाने को लेकर कहा कि जम्मू-कश्मीर में विकास का रास्ता यहीं से होकर जाता है। शाह ने कहा कि विपक्ष की ओर से ऐतिहासिकता की बात की गई, लेकिन किसी ने यह नहीं बताया कि 370 से भारत और जम्मू-कश्मीर को क्या मिलने वाला था

amit shah ne kaha, halat sudhre to purn rajya banega jammu kashmir

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने और दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजन के प्रस्ताव पर राज्यसभा में चर्चा का जवाब देते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने यह बात कही। उन्होंने कहा कि आर्टिकल 370 बनाए रखने की वकालत करने वाला इसके पक्ष में दलीलें दे सकता है। इससे जम्मू-कश्मीर और भारत को इससे क्या लाभ है, यह बात कोई मुझे बता सकता है क्या?

अमित शाह ने कहा कि 2004 से 2019 तक दो लाख 77 हजार करोड़ रुपए प्रदेश को भेजा गया, लेकिन जमीन पर कुछ नहीं दिखता है। 2011-12 में 3,687 करोड़ रुपया भेजा गया। इसी तरह 2017-18 में 27,000 रुपए प्रति व्यक्ति के हिसाब से दिया गया, लेकिन न जाने कहां रुपया चला गया।' 

अमित शाह ने कहा कि देश को दो प्रधानमंत्री पाक से आने वाले लोगों ने दिए, लेकिन जम्मू-कश्मीर में शरण लेने वाले लोग वहां काउंसलर तक नहीं बन सकते। उन्होंने कहा कि विपक्ष कहता है कि 370 जाएगा तो कयामत आ जाएगी। उन्होंने कहा कि देश और जम्मू-कश्मीर के लोगों को बताना चाहता हूं कि इससे सूबे में लोकतंत्र पैदा नहीं हुआ। भ्रष्टाचार बढ़ा और घाटी में गरीबी बढ़ी है। 

यह भी पढ़ें - अब कांग्रेस के इस वरिष्ठ नेता ने राज्यसभा से दिया इस्तीफा, कही ये बड़ी बात

अमित शाह ने कहा कि 1964 में लोकसभा में एक चर्चा के दौरान राम मनोहर लोहिया जी ने कहा था कि जब तक आर्टिकल 370 है, तब तक भारत और जम्मू-कश्मीर का एकीकरण नहीं हो सकता। 

Web Title: amit shah ne kaha, halat sudhre to purn rajya banega jammu kashmir ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया