सुषमा के अंतिम यात्रा में जाने पर मायावती को इस दिग्गज नेता ने दिया सबक, बसपा पार्टी कर सकती है...


NAZO ALI SHEIKH 10/08/2019 10:49:52
1345 Views

Lucknow. बसपा पार्टी में नेता जिसके भरोसे अपना नाम कमा रहे हैं, आज उसी को ठेंगा दिखाने से बाज नहीं आ रहे हैं। कर्नाटक के बाद विधायक गौहर इकबाल की करतूत सामने आई है गौहर की करतूत से ना केवल पार्टी बल्कि पूरा देश शर्मशार हो गया है। इनकी यह करतूत जान आपके भी होश उड़ जाएंगे। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बसपा सुप्रीमो मायावती सुषमा स्वाराज के अंतिम यात्रा में शामिल हुईं थीं। 

10-08-2019105331Thisveteranl1

उनकी यह यात्रा गौहर को इतनी नागवार गुजरी कि पार्टी से इस्तीफा दे दिया। बता दें कि पूर्व विदेश मंत्री रहीं सुषमा स्वाराज के निधन पर पूरा देश शोकमय है। इमानदार छवि की नेता सुषमा को ना केवल राजनीतिक पार्टियां बल्कि पूरा देश श्रद्धांजलि अर्पित कर रहा है। लेकिन गौहर ने अपनी ओछी मानसिकता दिखाकर सियासत को एक नया मोड़ दे दिया है। 

यह भी पढ़ें... धरना दे रहे सपाईयों पर पुलिस ने जमकर भांजी लठियां

  बदला लेने के लिए किया

दरअसल, इससे पहले बसपा सुप्रीमो ने इकबाल गौहर को भाजपा विधायक लोकेंद्र चौहान की अंतिम यात्रा में शामिल होने पर पार्टी से निष्कासित कर दिया था। शायद इसी का बदला लेने के लिए गौहर ने ऐसा किया है। इससे पहले भी गौहर ने बसपा सुप्रीमो पर कई आरोप लगाए हैं। गौहर इकबाल ने बसपा सुप्रीमो मायावती को एक लेटर भी भेजा है जिसमें उन्होंने कहा कि आज संकट के इस दौर में मुस्लिम व दलित समाज खुद को अकेला और ठगा महसूस कर रहा है। उन्‍होंने आरोप लगाते हुए कहा कि ऐसे समय में मायावती टिकट के नाम पर पैसे की उगाही में लगी हुई हैं। जब-जब मुस्लिमों पर संकट आया है, उन्होंने मुस्लिमों को खुद से दूर कर लिया। उन्‍होंने 2017 में बसपा के टिकट पर चुनाव लड़ा था। हारने के फौरन बाद उन्होंने मायावती से 12 लाख रुपये की मांग की थी। ऐसा न करने पर उन्‍हें पार्टी से निष्कासित कर दिया गया। उनका कहना है कि कुछ समय बाद चंदा लेकर उनकी फिर से पार्टी में एंट्री कराई गई।

10-08-2019105347Thisveteranl2

इसके बाद उन्हें लोकेंद्र चौहान की अंतिम यात्रा में शामिल होने के बाद उन्हें फिर से निष्कासित कर दिया गया था। अब जब मायावती पूर्व केंद्रीय मंत्री सुषमा स्वाराज की अंतिम यात्रा में शामिल हुईं तो उन्हें खुद की सजा याद आ गई। गौहर इकबाल ने कहा मैंने लोकेंद्र चौहान की अंतिम यात्रा में शामिल होकर क्‍या गुनाह किया था। गौहर इकबाल ने कहा कि वह भाजपा का डर दिखाकर मुस्लिमों का वोट लेती हैं। जबकि आज खुद भाजपा के साथ खड़ी हैं। उन्होंने मुस्लिमों व दलित समाज के लोगों पर मायावती को भविष्‍य में अपना वोट न देने की उम्मीद जताई है। फिलहाल गौहर इकबाल बसपा से इस्तीफा देकर किसी राजनीतिक पार्टी में नहीं जाएंगे।

Web Title: This veteran leader gave a lesson to Mayawati on Sushma's last visit, the BSP party can do ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया