अमेरिका ने पाकिस्तान को दिया करारा झटका,आर्थिक मदद में की कटौती


RAGHVENDRA CHAURASIA 16/08/2019 18:52 PM
39 Views

Washington. अमेरिका ने पाकिस्तान को करारा झटका दिया है। अमेरिका ने वर्तमान में जारी आर्थिक मदद को आधा कर दिया है। अमेरिका द्वारा पाकिस्तान को यह राशि कैरी लुगर बर्मन एक्ट के तहत साल 2009 से दी जा रही है। एक रिपोर्ट के मुताबिक पाक पीएम इमरान खान के अमेरिका दौरे से पहले यह फैसला वांशिंगटन ने लिया था। 

America gives a shock to Pakistan, cuts in financial aid

अमेरिका ने पांच साल में 52,500 करोड़ रूपये देने का किया था वादा

अमेरिकी कांग्रेस ने साल 2009 में कैरी लुगर बर्मन (केएलबी) अधिनियम को संचालित करने के लिए पाकिस्तान एन्हांसमेंट पार्टनरशिप ए्ग्रीमेंट (पीईपीए) को हस्ता​क्षरित किया गया था। इसके तहत पांच वर्षों की अवधि में पाकिस्तान को 52,500 करोड़ रुपये (7.5 बिलियन डॉलर) की सहायता देने का वादा किया गया था। इस राशि में से अभी 6300 करोड़ रुपये (900 मिलियन डॉलर) पाकिस्तान को नहीं दी गई थी। जिसमें से 3080 करोड़ रुपये (440 मिलियन डॉलर) की राशि को देने से अमेरिका ने इनकार कर दिया है। इस समझौते के बाद से ही अमेरिका और पाकिस्तान के संबंध बिगड़ने लगे और हाल में ही यह अपने सबसे निचले स्तर तक पहुंच गया। जिसके बद से अमेरिका ने पाकिस्तान को दी जाने वाली कई आर्थिक सहायता को बंद कर दिया था।

आर्थिक सहायता की कमी करना डोनाल्ड ट्रंप की रणनीति का हिस्सा है

आर्थिक मामलों के मंत्रालय के अधिकारियों ने कहा कि पाकिस्तान एकमात्र देश नहीं है जो हाल ही में सहायता में कटौती से प्रभावित हुआ है। उन्होंने कहा कि सहायता में कमी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की रणनीति का हिस्सा है ताकि विकासशील देशों को सहायता कम की जा सके। कैरी लुगर बर्मन अधिनियम का उद्देश्य पाकिस्तान कैरी लुगर बर्मन अधिनियम का उद्देश्य पाकिस्तान के आर्थिक बुनियादी ढांचे, विशेष रूप से ऊर्जा और कृषि में निवेश करना था, ताकि पाकिस्तान को अपनी ऊर्जा और जल संकट से उबरने में मदद मिल सके, पाकिस्तानी लोगों के दैनिक जीवन में सुधार हो और आर्थिक विकास के अवसर बढ़ें।
 

 

Web Title: America gives a shock to Pakistan, cuts in financial aid ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया