शुरू होने जा रहा देश का पहला वैदिक शिक्षा बोर्ड, रामदेव होंगे अध्यक्ष


NAZO ALI SHEIKH 20/08/2019 12:26:31
118 Views

New Delhi. भारत सरकार के मानव संसाधन मंत्रालय में वैदिक शिक्षा को लेकर बैठक की गई थी जिसमें देश के इस पहले वैदिक शिक्षा को लेकर निर्णय लिया जा चुका है। आगामी शिक्षा सत्र से ही वैदिक शिक्षा बोर्ड देश भर में शुरू हो जाएगा। इस बोर्ड के अध्यक्ष बाबा रामदेव आजीवन रहेंगे। यही नहीं बोर्ड के निदेशकर मंडल की चयन प्रक्रिया भी पूरी कर ली गई है। 

20-08-2019122908ThefirstVedi1

बताते चलें कि केन्द्र सरकार ने रामदेव के वैदिक शिक्षा बोर्ड को इस वर्ष से शुरू करने की अनुमति दी थी। बोर्ड सीबीएसई की तर्ज पर देश भर में शिक्षा संस्थानों को खुद से जोड़ने का काम भी करेगा। खास बात ये है कि बोर्ड का पाठ्यक्रम भी तैयार कर लिया गया है।

इस बोर्ड से जुड़े हर विद्यालयों में प्राच्य और आधुनिक शिक्षा छात्रों को दी जाएगी। गौरतलब है कि रामदेव पहले ही प्राचीन और अर्वाचीन शिक्षा पद्धति देने के लिए आठवीं कक्षा तक के लिए आचार्यकुलम की स्थापना कर चुके हैं।

यह भी पढ़ें... अगस्ता वेस्टलैंड केस: कमलनाथ के भांजे को ED ने किया गिरफ्तार

आपको बता दें कि अभी बोर्ड का मुख्यालय पतंजलि योगपीठ में चल रहा है। जल्द ही इसके सभी कार्यों का संचालन दिल्ली से कर दिया जाएगा। वैदिक शिक्षा बोर्ड देश भर में केवल ऐसा होगा जो कि वेदों की शिक्षा छात्रों को देगा।

रोचक यह है कि पाठ्यक्रम में धनुर विद्या जैसे अन्य चीजों को भी शामिल किया गया है। सीबीएसई में जो भी पाठ्यक्रम मान्य हैं, वे सभी वैदिक शिक्षा बोर्ड में शामिल किए जाएंगे। वैदिक शिक्षा बोर्ड के छात्र इंटर के बाद जिस भी क्षेत्र में जाना चाहेंगे उन्हें प्रवेश हासिल होगा।

Web Title: The first Vedic education board of the country, Ramdev will be president ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया