गो उत्पादों के साथ पंचगव्य का प्रचार प्रसार करेगा उत्तर प्रदेश गो सेवा आयोग


GAURAV SHUKLA 22/08/2019 13:50:10
107 Views

Lucknow. गोसेवा आयोग उत्तर प्रदेश में गोवंश के संवर्धन और संरक्षण की चुनौतियों के मद्देनजर सभी विभागों के साथ 2 सितम्बर 2019 को समन्वय बैठक करेगा । यह निर्णय आयोग में बुधवार को बुलाई गई विशेषज्ञों की बैठक में लिया गया। गोसेवा आयोग के अध्यक्ष प्रो. श्याम नन्दन सिंह ने आयोग में गोसेवा और गो संरक्षण से जुड़े विभिन्न विशेषज्ञों की बुधवार को एक बैठक बुलाई। आयोग ने उत्तर प्रदेश के सभी सम्बन्धित विभागों के प्रमुखों और निदेशकों की बैठक 2 सितम्बर 2019 को योजना भवन में बुलाने का निर्णय लिया है। 

22-08-2019135455govanshutpada1

इस बैठक में विशेषज्ञों ने गोसंरक्षण की चुनौतियों के मद्देनजर बताया कि सरकार के निर्देशों के बावजूद विभागों के बीच बेहतर समन्वय नहीं बन पा रहा है, इसके लिए आयोग को ठोस कदम उठाना चाहिए। उत्तर प्रदेश में गोशालाओं और 4 हजार से अधिक गोसंवर्धन केन्द्रों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए आयोग ने सभी विशेषज्ञों से सुझाव आमंत्रित किए हैं। गोसेवा आयोग गो उत्पादों के साथ पंचगव्य आधारित औषधियों का वृहद पैमाने पर प्रचार प्रसार करने की रणनीति बना रहा है। आयोग जल्द ही इसके लिए विशेषज्ञ और इस क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाले संस्थानों का सहयोग लेगा। 

22-08-2019135512govanshutpada2

इन्दिरा भवन स्थित आयोग के मुख्यालय में आयोजित बैठक में गोसेवा आयोग, उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष प्रो. श्याम नन्दन सिंह, आयोग के सचिव डॉ. आनन्द सोलंकी, गोसेवा अधिकारी डॉ संजय यादव, उत्तर प्रदेश गोसेवा आयोग के पूर्व सचिव और राज्य मानद पशु कल्याण अधिकारी और यूनाइड फाउण्डेशन के अध्यक्ष डॉ प्रमोद कुमार त्रिपाठी, लखनऊ नगर निगम के संयुक्त निदेशक (पशु कल्याण) डॉ. ए. के. राव, पंचगव्य उत्पादों के विशेषज्ञ डॉ. मोहित त्रिवेदी, यूनाइट फाउण्डेशन के उपाध्यक्ष राधेश्याम दीक्षित, आयोग के विशेषज्ञ डॉ. प्रतीक सचान, डॉ. शिवकुमार गंगवार, अनिल कुमार गुप्ता, अखिलेश श्रीवास्तव व अन्य विशेषज्ञ शामिल हुए। 

Web Title: govansh utpadan ke sath panchtatv ka prachar prasar karega up go seva ayog ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया