भाजपा को रोकने के लिए अखिलेश यादव अब इस पार्टी से करने जा रहे गठबंधन, सियासी सरगर्मी बढ़ी


RAJNISH KUMAR 25/08/2019 13:11:53
481 Views

Lucknow. उत्तर प्रदेश की सियासत में बहुत जल्द एक नया गठबंधन सामने आ सकता है। हाल ही में बसपा सुप्रीमो से धोखा खाने वाली की समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव और भाजपा से बगावत करने वाले सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर की नजदीकियां इसी ओर इशारा करती नजर आ रही हैं। सूत्र बताते हैं कि दोनों नेताओं के बीच गठबंधन की रूपरेखा तैयार हो चुकी है, बस इसकी घोषणा होना शेष है। यह गठबंधन सूबे में होने वाले उपचुनाव में भाजपा के विजय रथ को रोकने की तैयारी में अस्तित्व में आ रहा है। 

25-08-2019131526bjpkoroknek1

बता दें कि सूबे में विधानसभा की रिक्त हुई सीटों पर उपचुनाव होने हैं, जिसे लेकर राजनीतिक तैयारियां जोर शोर से चल रही हैं। सत्तारूढ़ भाजपा जहां प्रदेश के जातीय गणित को लेकर योजनाओं को सौगातों के जरिए वोट बैंक पर निशाना साध रही है। वहीं, विपक्षी दल भी अपनी अपनी तैयारियों में जुटे हैं। इसी कड़ी में सूबे में एक नया गठबंधन खड़ा होता नजर आ रहा है, जिसमें एक भाजपा का धुर विरोधी तो दूसरा प्रदेश भाजपा का पूर्व सहयोगी है। 

खास बात यह है कि ये दोनों ही दल पिछड़े वर्ग की राजनीति करते हैं। हम बात कर रहे हैं समाजवादी पार्टी और सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी की, जिनकी नजदीकियां इन दिनों सूबे के सत्ता के गलियारों में चर्चा का विषय बनी हैं। हाल ही में दोनों दलों के प्रमुख नेताओं की घंटों लम्बी मुलाकात भी हो चुकी है। सपा प्रमुख अखिलेश यादव और सुभासपा प्रमुख ओम प्रकाश राजभर मिल कर प्रदेश में नया गठबंधन खड़ा करने की तैयारी में हैं। 

बता दें कि समाजवादी पार्टी हो या फिर सुभासपा दोनों दलों का वोट बैंक पिछड़ा वर्ग ही है। सपा का दबदबा यादव वोटों पर है तो सुभासपा अति पिछड़ी जातियों की राजनीति करती है। सूबे की 13.63 प्रतिशत आबादी वाले इस वोट बैंक को अपना बनाने के लिए सुभासपा इन्हें आरक्षण दिलाने की मांग करती रही है। इस श्रेणी में निषाद, बिंद, मल्लाह, केवट, कश्यप, भर, धीवर, बाथम, मुछुआरा, राजभर, कुम्हार, प्रजापति, धीमर समेत कुल 17 जातियां शामिल हैं। इस वोट बैंक पर अगर पकड़ मजबूत हो जाए तो सपा यूपी में भाजपा के विजय रथ को रोकने में कामयाब हो सकती है। 

25-08-2019131530bjpkoroknek2

इसी सोच के साथ अखिलेश यादव इस पर गठबंधन को लेकर सक्रिय नजर आ रहे हैं। उधर सुभासपा प्रमुख ओम प्रकाश राजभर भी भाजपा से बगावत के बाद उसे नीचा दिखाने के लिए इसे बेहतर मौका मान रहे हैं। सूत्रों की माने तो दोनों दलों के शीर्ष नेताओं की बैठक में गठबंधन की रूप रेखा भी यह हो चुकी है। सुभासपा के महासचिव अरुण राजभर के मुताबिक ओम प्रकाश राजभर की अखिलेश यादव से मुलाकात में सकारात्मक संकेत मिले हैं। हलांकि अभी सीटों को लेकर कुछ तय नहीं हुआ है, लेकिन सुहैलदेव भारतीय समाज पार्टी यूपी की तीन सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी में हैं। 

 

Web Title: bjp ko rokne ke liye akhilesh karenge gathbandhan ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया