मायावती ने ये बात कहकर जीत लिया जनता का दिल, आप भी करेंगे तारीफ


NAZO ALI SHEIKH 09/09/2019 11:19:53
541 Views

Lucknow. 'चंद्रयान मिशन-2 के लैंडर 'विक्रम को लेकर देश में काफी उम्मीदें बंधी हुई है। विक्रम जब चांद के चंद कदमों की दूरी पर पहुंचा तभी उतरते समय  जमीनी स्टेशन से संपर्क छूट गया। ऐसा उस समय हुआ जब विक्रम चांद की सतह से महज 2.1 किलोमीटर की ऊंचाई पर ही था। विक्रम को लेकर देश भर के दिग्गज और आम जनता वैज्ञानिकों को सलाम करते हुए अपनी अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। वहीं, बसपा सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट कर कहा कि  चन्द्रयान-2 मिशन ने चांद पर कदम रखने को लेकर जो सराहनीय काम किया है, उसने देश का गौरव बढ़ाते हुए भारतीयों को रोमांचित किया है।  भारतीय वैज्ञानिकों खासकर ’इसरो’ के वैज्ञानिकों ने जो सफलता प्राप्त की है, वह तारीफ ए काबिल है।

09-09-2019112111Mayawatiwonp1

मायावती ने ट्वीट करते हुए लिखा कि आगे बढ़ने के लिए कभी भी हताशा और दुखी नहीं होना चाहिए। यह भी याद रहे कि 'गिरते हैं शहसवार मैदान-ए-जंग में, वह तिफ्ल (बच्चा) क्या गिरे जो घुटनों के बल चले।' उन्होंने यह चंद शब्द हौसला बढ़ाते हुए कहकर देशवासियों का दिल जीत लिया। साथ ही यह भी कहा कि वैज्ञनिकों को देशहित में काम करते रहने के लिए हौसला बढ़ाने की जरूरत है। पूरा देश वैज्ञानिकों के साथ खड़ा है।

आपको बता दें कि लैंडर देर रात एक बजकर 38 मिनट पर चांद की सतह पर लाने को लेकर कवायद शुरू की गई थी। लेकिन जैसे ही लैंडर चंद्रमा  सतह से 2.1 किलोमीटर की ऊंचाई पर था, उसका संपर्क टूट गया। हालांकि, 'विक्रम ने 'रफ ब्रेकिंग और 'फाइन ब्रेकिंग चरणों को आसानी से सफलतापूर्वक पूरा किया। अफसोस इस बात का रहा कि 'सॉफ्ट लैंडिंग से पहले धरती पर मौजूद स्टेशन से संपर्क टूट गया। इससे वैज्ञानिकों ही नहीं देश भर में निराशा छा गई। हालांकि, अभी लैंडर से संपर्क करने की कोशिश में वैज्ञानिक जुटे हुए हैं। माना जा रहा कि सफलता मिल सकती है।

Web Title: Mayawati won public by saying this, you too will praise ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया