बुढ़वा मंगल: मंदिरों में उमड़ा हनुमत भक्तों का सैलाब, देर रात से ही लगी भक्तों की कतारें


DEEP KRISHAN SHUKLA 10/09/2019 12:05:55
61 Views

Kanpur. बुढ़वा मंगल के अवसर पर भगवान संकट मोचन के दर्शनों के लिए देर रात से ही मंदिरों में भक्तों की कतारें लगी नजर आई। कानपुर के पनकी स्थित पंचमुखी हनुमान मंदिर में बाबा के दर्शनों के लिए श्रद्धालुओं का अपार जनसैलाब उमड़ा। रात एक बजे जैसे ही मंदिर के कपाट खुले तो भक्तों ने बाबा की जय जयकार करते हुए पुष्पवर्षा कर संकटों को हरने की कामना की। अन्य प्रमुख मंदिरों में भी भी हनमत भक्तों की कतारें लगी देखी गयी। 

10-09-2019120956AninfluxofH1
बाबा के प्रति असीम आस्था के चलते कानपुर के पनकी धाम में बुढ़वा मंगलवार के दिन श्रद्धालुओं की अपार भीड़ उमड़ती है। इसे ध्यान में रखते हुए मंदिर में व्यापक इंतजाम किए गए है। 
भक्तों की बाबा के प्रति आस्था का अनुमान इसी बात से लगाया जा सकता है कि सोमवार देर रात से ही पनकी स्थित पंचमुखी हनुमान जी के दर्शन के लिए श्रद्धालुओ की कतारें लग गयी। 
रात बारह बजने के बाद पुजारियों ने आरती पूजन के बाद जैसे ही श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए मंदिर के पट खोले तो भक्त बाबा की जय जयकार करते हुए भक्तों पर पुष्पवर्षा करने लगे। 
बता दें कि यहां सिर्फ कानपुर से ही नहीं बल्कि उन्नाव, फतेहपुर, फर्रूखाबाद, लखनऊ, इलाहाबाद, चित्रकूट, हरदोई और कानपुर देहात समेत तमाम जिलों से हजारों की संख्यां में श्रद्धालु पहुंचते हैं। 

10-09-2019121027AninfluxofH2
मंदिर में उमड़ने वाली श्रद्धालुओं की भीड़ की सुरक्षा के व्यापाक इंतजाम किए गए हैं। यहां व्यवस्था के लिए आठ मजिस्ट्रेटो की तैनाती की गयी है। 
मंदिर प्रबंधन ने भी श्रद्धालुओं की भीड़ को ध्यान में रखते हुए खास इंतजाम किए हैं। सोमवार देर रात से मंगलवार देर रात तक भक्तों के दर्शनार्थ मंदिर के पट खुलें रहेंगे। मंदिर प्रबंधन ने भी भक्तों की भीड़ को देखते हुए खास तैयारियां की है। 

10-09-2019121047AninfluxofH3
महंत श्रीकृष्ण दास के मुताबिक भक्तों को किसी प्रकार की असुविधा न हो इसके लिए स्वयंसेवकों की तैनाती की गयी है। भक्तों को पेयजल की दिक्कत न हो इसके लिए तीन लाख पानी के पाउच की व्यवस्था की गयी है। 
स्वास्थ्य महकमा भी पूरी तरह मुस्तैद है। यहां किसी भी स्थिति से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने डॉक्टरों की तैनाती की है साथ ही आधा दर्जन एंबुलेंस भी पूरे समय मंदिर के आस पास मौजूद रहेंगी। 
यही हाल पनकी समेत कानपुर के विभिन्न प्रमुख हनुमान मंदिरों का है। सभी हनुमान मंदिरों में बुढ़वा मंगलवार पर भगवान संकट मोहन की पूजा अर्चना के लिए भक्तों की अपार भीड़ उमड़ती है। 
सभी मंदिरों में प्रबंध कमेटियों ने श्रद्धालुओं की भीड़ को ध्यान में रखते हुए व्यापक इंतजाम किए है। 

10-09-2019121107AninfluxofH4
  इसलिए मनाया जाता है बुढ़वा मंगल
यूं तो संकट मोचन भगवान हनुमान जी की पूजा अर्चना के लिए हर मंगलवार खास होता है लेकिन भाद्रमास के अंतिम मंगलवार हो बुढ़वा मंगल के रूप में मनाया जाता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन रामभक्त भगवान हनुमान जी के दर्शन पूजन करने से आराधक के सभी संकट कट जाते हैं। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार इसी दिन बाबा बजरंगबली से बुजुर्ग वानर का रूप धारण कर महापराक्रमी भीम का घमंड तोड़ा था। दस हजार हाथियों का बल रखने वाले भीम पवनपुत्र हनुमान की पूछ तक न उठा पाए थे। उस दिन भाद्रमास का अंतिम मंगलवार था। तभी से इस दिन को बुढ़वा मंगलवार के रूप में मनाया जाता है। 

यह भी पढ़ें...लद्दाख की ये खूबसूरत जगहें पर्यटकों के लिए हैं धरती पर स्वर्ग

 

 

 

 

 

Web Title: An influx of Hanumat devotees gathered in temples on Budhva Mangal, queues of devotees started since late night ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया