सीएम योगी ने किया बड़ा ऐलान, एक झटके में खत्म कर दिया 38 साल पुराना कानून!


RAJNISH KUMAR 14/09/2019 00:20 AM
297 Views

Lucknow. प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को बड़ा ऐलान कर दिया है। सीएम योगी ने कहा कि मुख्यमंत्री और मंत्रियों का इनकम टैक्स अब सरकारी खजाने से नहीं भरा जायेगा, सम्बंधित व्यक्ति अपनी सम्पत्ति से ही भरेगा। बता दें कि प्रदेश में पिछले 38 सालों से मुख्यमंत्रियों और मंत्रियों के इनकम टैक्स भरे जा रहे हैं, जिसे अब योगी सरकार खत्म करने जा रही है।

CM Yogi Adityanath Ne kiya Bada Elan

प्रदेश की वीपी सिंह सरकार के दौरान उत्तर प्रदेश मिनिस्टर्स सैलरीज, अलाएउंसेज एंड मिसेलनियस एक्ट, 1981 यह कहते हुए बनाया गया था कि मुख्यमंत्री और मंत्री अपनी कम आमदनी से इनकम टैक्स नहीं भर सकते हैं। इस एक्ट में कहा गया है कि सभी मंत्री और राज्य मंत्रियों को पूरे कार्यकाल के दौरान प्रतिमाह एक हजार रुपये सैलरी मिलेगी और उपमुख्यमंत्री को 650 रुपये मिलेंगे। इसमें यह भी कहा गया कि वेतन टैक्स देनदारी अलग है और टैक्स का भार सरकार उठायेगी।

मंत्रियों को बताया गया था गरीब

वीपी सिंह की सरकार के बाद प्रदेश में कई मुख्यमंत्री बदले, लेकिन यह कानून अपनी जगह कायम रहा। इस कानून को हटाने के लिए किसी ने कोई प्रयास तक नहीं किया है। यहीं नहीं, इस कानून के अस्तित्व में आने के बाद करीब 1000 से अधिक अलग-अलग दलों के नेता मंत्री भी बन चुके हैं, लेकिन अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस कानून को खत्म करने की बात कही है। उन्होंने कहा कि सरकार किसी भी मंत्री का आयकर नहीं भरेगी, उन्हें अपनी ही सम्पत्ति से देना होगा।

दो साल में 86 लाख रुपए भरा गया टैक्स

वहीं, प्रदेश प्रमुख सचिव (वित्त) ने भी स्वीकार किया कि 1981 के कानून के तहत की मुख्यमंत्री और मंत्रियों को टैक्स राज्य सरकर की ओर से भरा गया है। बता दें कि योगी सरकार के दो साल के कार्यकाल के दौरान सरकार खजाने से मुख्यमंत्री और मंत्रियों का कुल 86 लाख रुपये का इनकम टैक्स भरा गया है। 

Web Title: CM Yogi Adityanath Ne kiya Bada Elan ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया