350 विश्वविद्यालयों की मान्यता खतरे में, यूजीसी ने दिया तीन साल का वक्त


NAZO ALI SHEIKH 15/09/2019 15:54:35
85 Views

New Delhi. 350 विश्वविद्यालयों की मान्यता खतरे में है। इसके लिए यूजीसी ने तीन साल का समय दिया है। दरअसल, विश्वविद्यालयों और कॉलेजों के पास 2022 के बाद नेशनल असेसमेंट एंड एक्रेडिटेशन काउंसिल (नैक) एक्रिडिटेशन नहीं होने की स्थिति में मान्यता समाप्त हो जाएगी। सरकार ने सभी उच्च शिक्षण संस्थानों को नैक एक्रिडिटेशन से जोड़ने को लेकर 167 संस्थानों को मेंटर इंस्टीट्यूशन के लिए चयनित किया है।

15-09-2019155715Accreditation1

बताते चलें कि केन्द्र सरकार ने उच्च शिक्षा की गुणवत्ता सुधारने के लिए विश्व रैंकिंग में सुधार को लेकर विश्वविद्यालयों व कॉलेजों को नैक एक्रिडिटेशन अनिवार्य कर दिया है। यूजीसी के तमाम प्रयासों के बाद भी उच्च शिक्षण संस्थानों को नैक एक्रिडिटेशन से नहीं जोड़ सका। 350 से अधिक विश्वविद्यालय व कॉलेज ऐसे हैं, जो नैक एक्रिडिटेशन से नहीं जुड़े सके हैं। जिन विद्यालयों को को नैक क्रिएडिशन में शामिल किया गया उनमें हरियाणा, यूपी, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश के संस्थान भी शामिल हैं।

बता दें कि नैक एक्रिडिटेशन होने की वजह से उच्च शिक्षण संस्थानों की गुणवत्ता परखने में भी आसानी होती है। इसकी खास बात ये है कि नैक टीम जांच के समय गुणवत्ता की परख करती ही है। साथ ही छात्र-शिक्षक अनुपात के तहत शिक्षक, योग्य शिक्षक, रिसर्च सहित कई अन्य सुविधाओं का जायजा ले लिया जाता है।

खबरों के मुताबिक, प्रो. डीपी सिंह, चेयरमैन, विश्वविद्यालय अनुदान आयोग का कहना है कि तीन सालों की अवधि में जो भी उच्च शिक्षण संस्थान हों  उनको नैक एक्रिडिटेशन से जोड़ने के लिए 167 मेंटर संस्थान भी चयनित कर लिए गए हैं। इन चयनित संस्थानों का कार्य होगा कि वह संस्थानों को जागरूक करें साथ ही नैक एक्रिडिटेशन में सहयोग दें।

Web Title: Accreditation of 350 universities in danger, UGC gives three years ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया