बसपा सुप्रीमो के आरोप पर कांग्रेस ने दिया करारा जवाब, मायावती की हो गई बोलती बंद


RAJNISH KUMAR 17/09/2019 15:15:57
418 Views

New Delhi. राजस्थान में एक बड़े राजनैतिक घटनाक्रम के तहत बहुजन समाज पार्टी के सभी छह विधायक कांग्रेस में शामिल हो गए हैं। अपने विधायकों के दल बदल को लेकर बसपा सुप्रीमो मायावती कांग्रेस पर जमकर भड़की हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने एक बार फिर बसपा के विधायकों को तोड़कर गैर-भरोसेमन्द व धोखेबाज़ पार्टी होने का प्रमाण दिया है। यह बसपा मूवमेन्ट के साथ विश्वासघात है। वहीं, राजस्‍‍‍‍‍‍थान के  मुख्यमंत्री गहलोत ने मायावती के आरोपाें करारा जवाब दिया है, जिससे उनकी बोलती बंद हो गई है। 

17-09-2019152814bspsupreemom1

दरअसल, बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष एवं पूर्व सीएम मायावती राजस्थान की कांग्रेस सरकार पर जमकर बरसीं हैं। उन्होंने ट्वीट कर कहा, राजस्थान में कांग्रेस पार्टी की सरकार ने एक बार फिर बसपा के विधायकों को तोड़कर गैर-भरोसेमन्द व धोखेबाज़ पार्टी होने का प्रमाण दिया है। यह बसपा मूवमेन्ट के साथ विश्वासघात है, जो दोबारा तब किया गया है जब बीएसपी वहां कांग्रेस सरकार को बाहर से बिना शर्त समर्थन दे रही थी। मायावती ने कहा कि कांग्रेस अपनी कटु विरोधी पार्टी/संगठनों से लड़ने के बजाए हर जगह उन पार्टियों को ही सदा आघात पहुंचाने का काम करती है, जो उन्हें सहयोग/समर्थन देते हैं। कांग्रेस इस प्रकार एससी, एसटी,ओबीसी विरोधी पार्टी है तथा इन वर्गों के आरक्षण के हक के प्रति कभी गंभीर व ईमानदार नहीं रही है।

वहीं, मायावती के आरोपों पर राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने जवाब दिया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस खरीद-फरोख्त नहीं करती है। उन्होंने कहा बसपा विधायक स्वेच्छा से कांग्रेस में शामिल हुए हैं। वहीं, उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने भी मायावती के आरोपों को खारिज किया है। उन्होंने कहा कि बिना किसी लोभ-लालच के, बिना शर्त के विधायक कांग्रेस में आए हैं, तो इसमें किसी को आपत्ति नहीं होनी चाहिए। 

17-09-2019152907bspsupreemom2

बता दें कि बहुजन समाज पार्टी के विधायक राजेन्द्र गुढ़ा, जोगेन्द्र सिंह अवाना, वाजिब अली, लाखन सिंह मीणा, संदीप यादव और दीपचंद खेरिया सहित सभी छह विधायकों ने कांग्रेस पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली है। कांग्रेस पार्टी की सदस्यता ग्रहण करने के बाद विधायक जोगेन्द्र सिंह अवाना ने कहा कि हमारे सामने तमाम चुनौतियां थीं। एक तरफ हम कांग्रेस को समर्थन दे रहे थे, दूसरी तरफ हम उनके खिलाफ लड़ रहे हैं। ऐसे में हमे जनता की भलाई के लिए ये कदम उठाना पड़ा है।

 

 

Web Title: bsp supreemo maya ko diya karara jawab ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया