कश्मीर मुद्दे पर सोनिया गांधी के विरोध पर राम माधव ने दिया ऐसा बयान, मचेगा हंगामा


RAJNISH KUMAR 19/09/2019 13:06:57
225 Views

New Delhi. भारतीय जनता पार्टी के महासचिव राम माधव ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी पर निशाना साधा। उन्होंने फेसबुक पर कहा कि कश्मीर में पुलिस की कार्रवाई पर जिस प्रकार सोनिया गांधी विरोध जता रही हैं। यह ठीक वैसा ही है जैसा हैदराबाद के विलय के समय पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने किया था। भाजपा नेता ने कहा कि 1948 में तत्कालीन गृहमंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल ने हैदराबाद को भारत में विलय के लिए पुलिस कार्रवाई की थी, लेकिन उस दौरान नेहरू ने इसका विरोध किया था। आज सोनिया गांधी कश्मीर के मामले में वैसा ही कर रहीं है।

19-09-2019130932rammadhavke1

कांग्रेस ने अनुच्छेद 370 को खत्म करने के सरकार के कदम की कड़ी निंदा की है। हालांकि कांग्रेस के कई नेता पार्टी के इस कदम के खिलाफ भी खड़े हुए हैं। राम माधव का यह बयान तब आया है जब तेलंगाना प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष एन. उत्तम कुमार रेड्‌डी ने कहा था कि हैदराबाद के विलय में जवाहरलाल नेहरू और सरदार वल्लभभाई पटेल ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। रेड्‌डी ने आरोप लगाया था कि हैदराबाद के भारत में विलय के इतिहास को भाजपा तोड़-मरोड़ रही है। उन्होंने कहा कि वह कांग्रेस और वाम दल ही थे, जो हैदराबाद राज्य के पाकिस्तान में विलय की योजना के खिलाफ मिलकर लड़े थे।

राम माधव ने कहा कि रेड्‌डी के इस प्रकार की बेवकूफी भरे बयान के कारण ही कांग्रेस पार्टी का आंध्र प्रदेश से पूरी तरह सफाया हो गया है और तेलंगाना में भी वह सफाए की तरफ हैं। मुझे नहीं पता कि यह व्यक्ति तेलंगाना की आजादी और प्रधानमंत्री नेहरू जैसे कांग्रेस के नेता की भूमिका के बारे में कितना जानता है। मुझे उम्मीद है कि तेलंगाना के कांग्रेस अध्यक्ष यह नहीं कहेंगे कि पटेल और के एम मुन्शी गुजराती थे इसलिए वे हैदराबाद के बारे में नहीं जानते। 17 सितंबर 1948 को हैदराबाद को भारत में विलय कर लिया गया था।

Web Title: ram madhav ke bayan par machega hungama ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया