अब आजम खान की स्वर्गवासी मां पर दर्ज हुआ मुकदमा


DEEP KRISHAN SHUKLA 21/09/2019 10:39:19
130 Views

Rampur. सपा के कद्दावर नेता और पार्टी से रामपुर सांसद आजम खान पर हो रही कार्रवाई खूब सुर्खियां बटोर रही है। अब तक तरह तरह मुकदमों में आजम खान और उनके परिजनों का नाम लपेटा जा चुका है। ताजा मामले में पुलिस ने एक मुकदमें में आजम की स्वर्गवासी मां का भी नाम ​शामिल किया है। जिसे लेकर अब पुलिस पर सवाल उठ रहे हैं। 

21-09-2019104444Casefiledaga1
हमेशा सुर्खियों में रहने वाले सपा सांसद आजम खान इन दिनों स्वयं पर हो रही कार्रवाई के चलते लाइम लाइट में हैं। उनके खिलाफ दर्ज हो रहे मुकदमों दिन ब दिन बढ़ती जा रही लिस्ट तमाम सवाल भी खड़े करते नजर आ रही है। 
आलम यह है कि आजम के साथ साथ उनके परिवारीजनों के अलावा करीबियों की गर्दन भी इन मुकदमों में फंस रही है।रामपुर के गंज थाना क्षेत्र में दर्ज किए गए एक मुकदमे में तो आजम खान की स्वर्गवासी मां अमीर जहां बेगम का नाम भी शामिल कर दिया गया। उनका इंतकाल 6 साल पहले हो चुका है। 
यह मुकदमा भाजपा नेता आकाश सक्सेना की शिकायत पर दर्ज कराया गया है। आकाश ने जिलाधिकारी आंजनेय कुमार सिंह को शिकायती पत्र देकर आरोप लगाया था कि जिला जेल के फांसी घर की जमीन की खरीददारी में हेरा फेरी हुई है। 

21-09-2019104500Casefiledaga2
इस शिकायती पत्र के आधार नायाब तहसीलदार ने आजम खान के बड़े बेटे मोहम्मद अदीब खान और स्वर्गवासी मां समेंत 37 लोगों को नामित करते हुए रिपोर्ट दर्ज कराई है। 
इस मुकदमे में आजम समेत नामित सभी पर आईपीसी की धारा 420 और 447 के अलावा सार्वजनिक संपत्ति नुकसान निवारण अधिनियम की धारा 3(2)ख लगाई गयी है। 

बता दें कि इससे पहले आजम खान पर रामपुर के विभिन्न थानों में मुकदमें दर्ज कराए गए हैं जिनकी संख्या 83 के पार पहुंच चुकी है। 
आजम खान की स्वर्गवासी मां के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराए जाने का मामला सुर्खियों में आने के बाद पुलिस और प्रशासन की कार्रवाई पर भी सवाल खड़े होने लगे है। 

यह भी पढ़ें...बड़ा खुलासा: एसआईटी का दावा स्वामी चिन्मयानंद ने स्वयं पर लगे आरोप स्वीकारे

 

 

 

Web Title: Case filed against Azam Khan's late mother ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया