पोषण माह के पहले पखवाड़े में 8405 कुपोषित बच्चों की हुई पहचान


GAURAV SHUKLA 21/09/2019 10:48:56
43 Views

Lucknow. प्रदेश में पोषण माह के पहले पखवाड़े (1 से 15 सितंबर) में आरबीएसके एप के जरिये  8405 बच्चे संदर्भित किए गए हैं। इसमें अधिकांश बच्चों में विटामिन ए की कमी पाई गई है। जबकि कुछ बच्चों में विटामिन ए, खून और विटामिन डी की कमी पाई गई है। महाप्रबंधक आरबीएसके डाॅ0 मनोज शुकुल ने यह जानकारी देते हुए बताया कि राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम (आरबीएसके) एपयूपी में प्रभावी तरीके से कार्य कर रहा है। उन्होंने बताया कि सुदूर क्षेत्रों में रहने वाले बच्चों के लिए तो यह कार्यक्रम अत्यन्त लाभप्रद है। पोषण माह के पहले पखवाड़े में आरबीएसके एप के माध्यम से 1 सितम्बर से 15 सितम्बर तक पोषण संबंधी बीमारियों से ग्रसित बच्चों को संदर्भित किया गया। इसमें 4953 बच्चे विटामिन ए की कमी (बिटोट स्पॉट) से ग्रस्त मिले, जबकि 1822 बच्चों में गंभीर खून की कमी पाई गई। पूरे यूपी में 1052 बच्चे अति कुपोषित मिले, जबकि 364 बच्चे विटामिन डी की कमी रिकेट्स से ग्रस्त पाये गए। इसी तरह 183 बच्चे बहुत दुबले और 31 बच्चे मोटापे से ग्रस्त पाये गए। इन सभी बच्चों की स्क्रीनिंग कर तत्काल उन्हें संदर्भित कर दिया गया है।

21-09-2019105234pochanmaahke1
महाप्रबंधक आरबीएसके डॉक्टर मनोज शुकुल ने बताया कि एप शुरू होने से बच्चों की समस्याओं की स्क्रीनिंग और रेफरल प्रक्रिया काफी आसान हो गई है। इस एप के जरिये 38 प्रकार की जन्मजात बीमारियों की स्क्रीनिंग और रेफरल किया जाता है। जल्द ही आरबीएसके टीम बच्चों में टीबी और कुष्ठ रोग की भी स्क्रीनिंग करेगी। उन्होने बताया कि लक्षण मिलने पर बच्चों का पहले सामुदायिक प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर निःशुल्क इलाज किया जाता है। आवश्यकता पड़ने पर उनको राज्यस्तरीय अस्पतालों में भी रेफर किया जाता है। ज्ञात हो कि आरबीएसके के तहत बच्चों के स्वास्थ्य की निगरानी करने के उद्देश्य से मई  में परफॉर्मेंस मॉनिटरिंग एप लांच किया गया था। इससे बच्चों की स्क्रीनिंग और रेफेरल बहुत आसान हो गई है। आरबीएसके टीम अपने आने की सूचना दो दिन पहले प्रधानाध्यापक और आंगनवाड़ी कार्यकर्ता को देती हैं। फिर बच्चे की फोटो के साथ दौरे की पूरी रिपोर्ट इस एप पर अपलोड की जाती है। जो कि जिला प्रशासन भी देख सकता है। इस एप में दर्ज बच्चों का लगातार फॉलोअप किया जाता है। एप में कुल 38 बीमारियों का विवरण दर्ज है। बच्चा किन-किन बीमारियों से ग्रस्त हैं, इसका विवरण एप में दर्ज होता है। साथ ही कितने बच्चे संदर्भित किए गए हैं इसका विवरण भी एप में दर्ज होता है।

Web Title: pochan maah ke pahle pakhvade me 8405 baccho ki hui pahchan ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया