पढ़ाई के दौरान बच्चों के लिए मोबाइल प्रतिबंधित नहीं: हाईकोर्ट


NAZO ALI SHEIKH 21/09/2019 16:06:01
58 Views

New Delhi. छात्रों के इंटरनेट इस्तेमाल को लेकर केरल हाईकोर्ट ने नया निर्देश जारी किया है। याचिका की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कहा कि इंटरनेट की उपलब्धता व इसका प्रयोग शिक्षा के अधिकार (RTE) और निजता के अधिकार (Right To Privacy) का भाग है। कॉलेज या हॉस्टलों में छात्रों के मोबाइल और इंटरनेट प्रयोग को रोका नहीं जा सकता।

21-09-2019160917Mobileisnot1

बता दें कि यह अहम फैसला जस्टिस पीवी आशा ने याचिका की सुनवाई करते हुए दिया। सुनवाई करते हुए कहा कि भारतीय संविधान के अनुच्छेद 21 के तहत इंटरनेट का प्रयोग का अधिकार निजता और शिक्षा के अधिकार का पार्ट है।

दरअसल, कोझिकोड स्थित श्री नारायण कॉलेज में तीसरे सेमेस्टर की छात्रा फहीमा शिरीन ने पढ़ाई के दौरान मोबाइल व इंटरनेट के प्रयोग को लेकर याचिका डाली थी। याचिका में कोर्ट को अवगत कराया गया कि हॉस्टल में पढ़ाई के दौरान (शाम 6 से रात 10 बजे तक) छात्राएं मोबाइल व इंटरनेट का यूज नहीं कर सकतीं।

कॉलेज ने यह तर्क दिया था कि अभिभावकों के कहने पर यह पाबंदी लगाई गई थी। जिससे मोबाइल फोन का छात्र दुरुपयोग नहीं कर सकें। जबकि छात्रों को लैपटॉप का प्रयोग करने की रोक नहीं लगाई गई। कोर्ट ने कहा कि छात्रों को पढ़ाई करने के लिए मोबाइल और लैपटॉप दोनों को यूज करने की जरूरत है। हर छात्र के पास मोबाइल या लैपटॉप दोनों ही हो यह भी जरूरी नहीं।

इंटरनेट का दुरुपयोग मोबाइल हो या लैपटॉप दोनों से ही किया जा सकता है। छात्रों को मोबाइल फोन का इस्तेमाल करने या न करने के लिए मजबूर नहीं किया जा सकता। छात्रों को खुद यह सुनिश्चित करना होगा कि मोबाइल फोन और इंटरनेट का यूज अपनी अच्छी शिक्षा के लिए करें।

Web Title: Mobile is not banned for children during studies: High Court ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया