तो अब निजी हाथों में होगा पैसेंजर ट्रेनों का रिमोट


DEEP KRISHAN SHUKLA 28/09/2019 09:24:22
120 Views

- रेलवे बोर्ड की बैठक में 6 जोनों के अधिकारियों ने किया मंथन
- 50 रूटों पर प्राइवेट पैसेंजर ट्रेन चलाने पर हुई चर्चा 
New Delhi. रेलवे बोर्ड जल्द ही पैसेंजर ट्रेनों का संचालन निजी हाथों में सौंपने की तैयारी में है। इस मुद्दे पर चर्चा के लिए दिल्ली में रेलवे बोर्ड की एक खास बैठक बुलाई गयी। इस बैठेक में रेलवे के 6 जोनों के प्रिंसिपल चीफ आपरेशन मैनेजरों के अलावा जोन के अधिकारी मौजूद रहें। बताया जा रहा है कि 50 रूटों पर पैसेंजर ट्रेनों का संचालन प्राइवेट आपरेटरों के हाथों में सौंपने की संभावनाओं पर अधिकारियों के बीच मंत्रणा हुई है। 

28-09-2019095623verysoonthe1
दिल्ली में रेलवे बोर्ड के मेंबर ट्रैफिक ने 6 रेलवे जोन के अधिकारियों की अहम बैठक बुलाई गयी। इस बैठक में नॉर्दर्न रेलवे, सेंट्रल रेलवे, साउथ ईस्टर्न रेलवे, नॉर्थ सेंट्रल रेलवे, साउथ सेंट्रल रेलवे और दक्षिणी रेलवे जोनों के चीफ आपरेशन मैनेजर के अलावा अन्य प्रमुख अधिकारी मौजूद रहें। 
बैठक का मुख्य एजेंडा पैसेंजर ट्रेनों का संचालन निजी हाथों में सौंपने का रहा है। बैठक में तय हुआ कि प्राइवेट ऑपरेटर्स अत्याधुनिक पैसेंजर ट्रेन चलाएंगे। 
यह प्रक्रिया पूरी तरह पारदर्शी तरीके संपन्न करने के लिए ट्रेनों का संचालन रिक्वेस्ट फार कोटेशन और रिक्वेस्ट फार प्रपोजल की व्यवस्था के तहत किया जाएगा। 

28-09-2019095640verysoonthe2
जिसमें पहले तो निजी कंपनियों से पैसेंजर ट्रेनों के संचालन के लिए प्रस्ताव मांगा जाएगा। फिर इन प्रस्तावों के आधार पर रेलवे बोर्ड ट्रेनों के संचालन की दरें निर्धारित करेगी। इस बेस दरों के आधार पर रेलवे ट्रेनों के संचालन की निविदाएं (टेंडर) आमंत्रित करेगी। 
मिली जानकारी के मुताबिक इस संबंध में सम्पन्न हुई बैठक में 50 रूटों पर ट्रेनों का संचालन निजी हाथों में सौंपने पर चर्चा हुई। 
जिसमें सभी 6 जोनल रेलवे को अपने अपने रूटों पर प्राइवेट पैसेंजर ट्रेनों के संचालन की प्रक्रिया निर्धारित करने की जिम्मेदारी सौंपी गयी। 

28-09-2019095657verysoonthe3
जोनल रेलवे अपने अपने क्षेत्र में इसकी संभावनाओं और व्यवसायिक व्यवहारिकता के आधार पर रिपोर्ट तैयार करेंगे।इसके अलावा जोनल रेलवे को यह भी तय करना होगा कि उनके रूट में अतिरिक्त ट्रेनों के संचालन की क्या गुंजाइश है। 
बैठक में यह भी तय हुआ है कि निजी हाथों में सौंपी जाने वाली ट्रेनों के लिए वाशिंग लाइन और कोचिंग टर्मिनल अलग से तैयार किया जाएगा। 

28-09-2019095715verysoonthe4
मालूम हो कि एक्सप्रेस ट्रेनों का संचालन निजी हाथों में सौंपने की राह पर रेलवे पहले ही चल चुका है। तेजस के रूप में इसका श्रीगणेश होने जा रहा हैं इसके बाद अब रेलवे ने पैसेंजर ट्रेनों को भी निजी हाथों में सौंपने की दिशा में कदम बढ़ाने शुरू कर दिए है। 

28-09-2019095735verysoonthe5
इसमें अभी कितना वक्त लगेगा फिलहाल यह तो तय नहीं है लेकिन जल्द ही रेलवे नए रंग रूप में लोगों के सामने होगा।  भारतीय रेलवे देश की लाइफ लाइन है। 

इसका निजीकरण सरकार के लिए कितना लाभप्रद होगा यह तो भविष्य के गर्त में है लेकिन रेलवे की रगों से वाकिफ लोग सरकार के इस फैसले को लेकर तरह तरह की बाते कर रहे हैं। 

यह भी पढ़ें...शाओमी का दीवाली ऑफर : 28 सितंबर से 4 अक्टूबर तक चलेगी फ्लैश सेल

 

 

 

 

 

 

Web Title: very soon the remote of passenger trains will be in private hands ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया