गोसेवा आयोग के अध्यक्ष श्याम नन्दन सिंह ने प्रदेशवासियों को दी विजयादशमी की शुभकामनाएं


DEEPAK MISHRA 08/10/2019 17:11:55
57 Views

LUCKNOW: बुराई पर अच्छाई की जीत के पर्व विजयादशमी पर सभी प्रदेशवासियों, गोपालकों, गो सेवकों और गो प्रेमियों को उत्तर प्रदेश गो सेवा आयोग के अध्यक्ष श्याम नन्दन सिंह ने शुभकामनाएं और हार्दिक बधाई दी। आयोग के अध्यक्ष ने कहा कि पारंपरिक हर्षोल्लास के साथ मनाए जाने वाला यह पर्व अभिमान, अत्याचार एवं बुराई पर सत्य, धर्म और अच्छाई की विजय का प्रतीक है। उन्होंने कहा कि इस दिन भगवान श्री राम ने रावण और देवी दुर्गा ने महिषासुर का वध करके धर्म और सत्य की रक्षा की थी। 

08-10-2019172105ChairmanofGo1

गोसेवा आयोग के अध्यक्ष ने लोगों से अपील में कहा कि आज के दिन को खास बनाने के सभी प्रदेशवासियों को प्रतिज्ञा लेनी चाहिए कि हम गोवंश का संवर्धन और संरक्षण करेंगे साथ ही सड़क पर घूमते निराश्रित जीवों की रक्षा में योगदान देने में उत्तर प्रदेश अव्वल साबित हो।

प्रदेश में बेसहारा गोवंश की रक्षा के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने हरसंभव प्रयास किए हैं, सरकार के प्रय़ासों को जनभागीदारी के बिना सफल नहीं बनाया जा सकता। गोप्रमियों की सूचना पर दुर्घटनाग्रस्त और बीमार गोवंश को गौशालाओं और गोआश्रय स्थलों तक पहुंचाया जा सकता है और तत्काल चिकित्सा मुहैया की जा सकती है। श्याम नंदन सिंह ने यह भी अपेक्षा की है कि लोग इस बार विजयादशमी पर और दीपावली के पर्व पर पटाखों का इस्तेमाल ना करें, जिससे जीवों के चोटिल होने के साथ ही पर्यावरण भी प्रदूषित होता है और अरबों रूपए बिना किसी को लाभ पहुंचाएं व्यर्थ हो जाते हैं।

लोग पटाखों से बचाए पैसों से वृक्ष लगा सकते हैं, बेसाहारा लोगों को औऱ जीवों को भोजन और जरूरी मदद कर सकते हैं। इस पर्व पर जनसामान्य से आग्रह करते हुए कहा कि सभी प्रदेशवासी अपने आस पास साफ-सफाई का विशेष ध्र्यान रखें और साथ ही पर्यावरण को भी संरक्षित करने में अपना योगदान दें।

Web Title: Chairman of Goseva Commission Shyam Nandan Singh wishes Vijayadashmi to the people of the state ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया