#Worldpostday: पर जानें खास बातें, 22 देशों ने किया था हस्ताक्षर


NAZO ALI SHEIKH 09/10/2019 16:04:55
23 Views

Lucknow. दुनिया भर में आज यानि 9 अक्टूबर को वर्ल्ड पोस्ट डे (डाक दिवस) मनाया जा रहा है। डाक विभाग के बारे में आज कुछ अहम जानकारियां आपको दे रहे हैं, जिसके बारे में आपको मालूम नहीं होगा। बताते चलें कि डाक दिवस मनाने का उद्देश्य इसके बारे में लोगों को जागरूक करना है।  

09-10-2019160927Worldpostday1

आपको बता दें कि साल 1874 में 9 अक्टूबर को ही यूनिवर्सल पोस्टल यूनियन (यूपीयू) का गठन करने को लेकर स्विट्जरलैंड की राजधानी बर्न में 22 देशों ने एक समझौते पर हस्ताक्षर किया था। इस समझौते के बाद 1969 में टोक्‍यो में एक सम्मेलन का अयोजन किया गया। इस सम्मेलन में  विश्व डाक दिवस के तौर पर 9 अक्टूबर का दिन घोषित किया गया।

   भारत में डाक की स्थापना

भारत की बात करें तो यहां 18वीं सदी से पहले इसकी स्थापना हुई थी। 1766 में लॉर्ड क्लाइव ने इसे स्थापित किया था। डाक व्यवस्था को विकसित करने के लिए वारेन हेस्टिंग्स ने 1774 में कोलकाता जीपीओ की स्थापना किया। चेन्नै और मुंबई के जनरल पोस्ट ऑफिस 1786 और 1793 में पूरी तरह से अस्तित्व में आ चुके थे।

09-10-2019160949Worldpostday2

रिपोर्ट्स के मुताबिक, स्वतंत्रता के दौरान भारत में कुल 23,344 डाक घर थे। सभी डाक घरों को मिलाकर 19,184 ग्रामीण क्षेत्रों में और 4,160 शहरी क्षेत्रों में थे। इसके बाद यह संख्या 31 मार्च 2008 तक भारत में 1,55,035 हो गए। जिनमें 1,39,173 डाक घर ग्रामीण क्षेत्रों और 15,862 शहरी क्षेत्रों में थे। आज भारत विश्व भर में सबसे बड़ा डाक पोस्टल का नेटवर्क बन चुका है।

09-10-2019161008Worldpostday3

खास बात ये है कि पोस्‍टल नेटवर्क के विस्तार पर गौर किया जाए तो ग्रामीण क्षेत्रों में ही डाक व्यवस्थाओं को शुरू करने का अहम योगदान रहा है। एक आंकड़े के मुताबिक, भारत देश में एक डाक घर 21.20 वर्ग किमी क्षेत्र और 7174 लोगों की जनसंख्या को सेवाएं प्रदान कर रहा है। पोस्टल नेटवर्क में 4 तरह के डाक घर शामिल हैं।

   मनी ऑर्डर कब शुरु हुआ

इनमें प्रधान डाक घर, उप डाक घर, अतिरिक्त विभागीय उप डाक घर और अतिरिक्त विभागीय शाखा डाक घर प्रमुख हैं। आपको बता दें कि हर तरह के ये डाक घर एक तरह की ही पोस्टल सेवाओं की सुविधाएं देते हैं। वहीं, डिलिवरी करने का काम विशिष्ट डाक घर करते हैं। अहम जानकारी देते हुए बता दें कि देश में पहला पोस्ट ऑफिस 1774 में कोलकाता में ओपन हुआ था। स्पीड पोस्ट 1986 में शुरू किया गया और मनी ऑर्डर सिस्टम की सुविधा ग्राहकों को 1880 में दिया गया था।

Web Title: Worldpostday: Learn special things, 22 countries had signed ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया