यहां अध्यक्ष पद की रेस कल हो सकती है खत्म, भाजपा से आने वाला यह नेता रेस में सबसे आगे


DEEP KRISHAN SHUKLA 10/10/2019 16:09:30
69 Views

New Delhi. देश की राजधानी में खाली चले अध्यक्ष पद का सूनापन कल समाप्त हो सकता है। दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष किसे बनाया जाएगा इसकी घोषणा शुक्रवार को पार्टी कर सकती है। पूर्व मुख्यमंत्री शील दीक्षित के निधन के बाद से यह पद खाली चल रहा था। 

10-10-2019161415Heretherace1
 

दिल्ली में विधानसभा चुनाव की उल्टी गिनतियां शुरू हो गयी है। सभी राजनीतिक दल चुनावी चौसर बिछाने में जुट गए हैं। ऐसे में कांग्रेस पार्टी को यहां अध्यक्ष की दरकार है। दरअसल पूर्व मुख्यमंत्री व अध्यक्ष शीला दीक्षित कि निधन के बाद से यह पद खाली चल रहा है। 
पार्टी सूत्रों की माने तो बहुत जल्द ही पार्टी अध्यक्ष के नाम की घोषणा कर सकती है। चर्चा तो यह भी है कि शुक्रवार को यह हो सकता है। 
यूं तो अध्यक्ष बनने की दौड़ में कई हस्तियां शामिल हैं। लेकिन इन सबके बीच पूर्व क्रिकेटर और पूर्वांचली नेता कीर्ति आजाद इस मामले में सबसे आगे माने जा रहे हैं। उनके अलावा जेपी अग्रवाल और संदीप दीक्षित भी इस रेस में शामिल है। 

10-10-2019161500Heretherace3
बता दें कि शीला दीक्षित के निधन के बाद कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी ने दिल्ली के पार्टी नेताओं से मुलाकात की थी लेकिन अध्यक्ष के नाम की घोषणा नहीं हुई थी। 
गुटों में बंट चुकी दिल्ली कांग्रेस का अध्यक्ष बनाना भी बेहद चुनौतीपूर्ण काम है। पार्टी के जिन दावेदारों के नाम इस रेस में शामिल हैं उनमें सबसे उपर नाम पूर्व क्रिकेटर कीर्ति आजाद का ही चल रहा है। 
बता दें कि वह बिहार के दरभंगा से दो बार सांसद भी रह चुके हैं। राजधानी की राजनीति से भी उनका गहरा ताल्लुक है। 

10-10-2019161526Heretherace4
1983 में वह दिल्ली की गोल मार्केट से सीट भाजपा के टिकट पर विधायक भी चुके गए थे। हलांकि 1998 में उन्हें इसी सीट पर शीला दीक्षित के सामने हार का मुंह देखना पड़ा था।

भाजपा का दामन छोड़कर कांग्रेस में आने के बाद लोकसभा चुनाव में वह झारखंड की धनबाद सीट से चुनाव लड़ चुके हैं। 
मालूम हो कि दिल्ली विधान सभा चुनाव में पूर्वांचल के वोटरों की अहम भूमिका है। भाजपा जहां मनोज तिवारी के बल पर इन्हें साधने का काम कर रही है तो सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी पूर्वांचल वासियों के लिए तमाम योजनाओं की सौगात देकर उन्हें रिझाने का प्रयास कर रही है। 
ऐसे में कीर्ति को अध्यक्ष बना कर कांग्रेस भी पूर्वांचल के वोटरों को काफी हद तक साध सकती है। 

यह भी पढ़ें...कांग्रेस नेता सचिन पायलट का ये दावा सच हुआ तो बीजेपी को होगा बड़ा नुकसान

 

 

 

 

 

 

Web Title: Here the race for the post of president may be over tomorrow, this leader coming from BJP is in the forefront of the race ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया