​​​​विश्व एनेस्थीसिया दिवस : एनेस्थीसिया के बिना ऑपरेशन संभव नहीं


NP1591 16/10/2019 19:00:36
22 Views

Lucknow आज विश्व एनेस्थीसिया दिवस है ऑपरेशन थ्रियटर (ओटी) के अंदर किसी भी सर्जरी में जितना महत्व सर्जन का होता है उतना ही एनेस्थेसिया का भी होता है। 16 अक्टूबर को विश्व एनेस्थेसिया दिवस मनाया जाता है। 173 साल पहले 16 अक्टूबर 1846 को शल्य क्रिया में पहली बार अमेरिका के बॉस्टन शहर में मेशाच्चुसेट्स जनरल हॉस्पिटल के एम्फी थियेटर जिसे अब इथर डोम कहा जाता है। वहां पर एक जबड़े के मरीज की सर्जरी में डॉ.विलियम थॉमस ग्रीन मॉर्टन ने ईथर एनेस्थीसिया का पहला सफल प्रदर्शन किया था। तब से इस दिन को विश्व एनेस्थीसिया दिवस के रूप में मनाया जाता है। इसे चिकित्सा जगत की सबसे बड़ी खोज बताया जाता है। क्योंकि एनेस्थीसिया के बिना कोई भी ऑपरेशन संभव नहीं होता है। 1846 से लेकर आज तक इस क्षेत्र में इतना विकास हो गया है कि अब निश्चेतना बहुत ही सुरक्षित हो चुका है।

16-10-2019190742WorldAnesthes1

एनेस्थीसिया शब्द ग्रीक भाषा के दो शब्द an और aethesis शब्द से मिलकर बना है। an अर्थात बिनाऔर “aethesis” अर्थात संवेदना। इस प्रकार शब्द से ही इसका भाव स्पष्ट है संवेदना के बिना। एनेस्थीसिया या निश्चेतना चिकित्सा विज्ञान का वह महत्वपूर्ण शाखा है जिसमें किसी भी प्रकार के सर्जरी या ऑपरेशन में मरीज को दर्द के अनुभव के बिना ऑपरेशन सफलता पूर्वक किया जाता है। इस प्रक्रिया में मरीज होश में रहकर ऑपरेशन देख भी सकता है पर उसे दर्द या कष्ट का अनुभव नहीं होता है। इसके बिना जटिल ऑपरेशन संभव नहीं होते हैं। एनेस्थीसिया के प्रक्रिया को करने वाले चिकित्सक को एनेस्थीसियोलॉजिस्ट या एनेस्थेटिस्ट तथा इसमें प्रयोग किए जाने वाले दवाओं को एनेस्थेटिक दवा कहते हैं।

 

Web Title: World Anesthesia Day: Operation not possible without anesthesia ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया