करवाचौथ स्पेशल : व्रत बना टूटने जा रहे परिवार को जोड़ने का जरिया


NP863 17/10/2019 10:40:26
120 Views

Lucknow. करवाचौथ व्रत को लेकर भोपाल से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां करवाचौथ उपवास बिखरने जा रहे परिवार को वापस जोड़ने का जरिया बना है। दरअसल पारिवारिक कलह के बाद एक युवक तलाक की अर्जी लेकर कोर्ट पहुंचा था। जहां न्यायाधीश ने सुनवाई को रोकते हुए कहा कि जाओ पहले पत्नी को करवाचौथ की खरीददारी करवाओ और त्योहार मनाओ। इसके साथ ही अदालत ने एक काउंसलर भी उसके लिए नियुक्त किया। 

karvachauth special
गौरतलब है कि पति पत्नी के प्रेम का पर्व करवा चौथ गुरुवार(17-10-2019) को पूरे देश में मनाया जा रहा है। सुहागन महिलाओं ने इसके लिए खासी तैयारी कर रखी हैं। पति की दीर्घायु और महिलाओं को सौभाग्य देने वाले इस निर्जला व्रत का शाम चंद्र दर्शन के बाद पति के हाथों पानी पीकर पारण किया जाता है। चांद के दर्शन के लिए बार बार महिलाओं को छत की दौड़ न लगानी पड़े इसके हम आपकों आज गुरूवार चंद्रोदय का सही समय बता रहें हैं। ताकि आप उसी अनुसार अपनी पूजा की तैयारी कर सकें। 
धार्मिक मान्यताओं के अनुसार चंद्रोदय के बाद उसके दर्शन और अर्घ्य देकर ही व्रत का पारण करना चाहिए अन्यथा इच्छित फल की प्राप्ति नहीं होती है। गुरूवार कार्तिक कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि पर शाम 7 बजकर 58 मिनट पर चंद्रोदय होगा। ज्योतिष और धर्म शास्त्रों के अनुसार चंद्र देव का अर्घ्य देने का सर्वोत्तम समय यही है। 
70 साल बाद बना है करवा चौथ पर यह अद्भुद संयोग
इस वर्ष के करवा चौथ का अद्भुद संयोग इसे अत्यंत फलदायक और शुभ बना रहा है। ज्योतिष के अनुसार 70 सालों बाद करवा चौथ पर ऐसा योग बन रहा है जब चंद्र देव अपनी रोहिणी के साथ उदय होगें। ऐसा इसलिए है कि इस बार करवा चौथ का चंद्रोदय रोहिणी नक्षत्र में होगा। ऐसे संयोग कई सालों में सिर्फ एक ही बार बनते हैं। 

karvachauth story
ऐसे करें पूजा की तैयारी
हमारे धर्म शास्त्री कहते है कि पूजा पूरे विधि विधान से करनी चाहिए। ऐसे में पूजा सामग्री भी अहम हो जाती है। करवा चौथ पर आपकी में कोई प्रमुख सामग्री छूट न जाए इसलिए यह भी जान ले कि आपको किन किन वस्तुओं की आवश्कयता पड़ेगी। पूजा के आपकों एक छलनी, करवा, दीपक, सिंदूर, फूल, फल, मेवे, रुई की बत्ती, कांसे की 9 या 11 तीलियां, नमकीन, मीठी मठ्ठियां, मिठाई, रोली और साबुत चावल, आटे का दिया, धूपबत्ती, पानी से भरा हुआ तांबे या स्टील का लोटा, आठ पूरियों की अठावरी और हलवा इन चीजों का प्रबंध कर लेना है। 

Web Title: karvachauth vrat special story ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया