यूपीपीएससी से रक्षा अध्ययन विषय हटने पर शिक्षकों और छात्रों में रोष


NP1357 18/10/2019 17:23:54
445 Views

Kanpur. उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (Uttar Pradesh Public Service Commission) ने मुख्य परीक्षा (Main exam) से रक्षा अध्ययन विषय (Defense studies subjects) को वैकल्पिक विषय से हटा दिया है, जिससे शिक्षकों और छात्रों में रोष है। छात्रों ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) को पत्र लिखकर विषय को फिर से शामिल करने की मांग की है।

18-10-2019172643Furyamongtea1

कानुपर के डीएवी कॉलेज (DAV College) के रक्षा एवं स्त्रातेजिक अध्ययन विभाग के छात्रों और शिक्षकों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) को पत्र लिखा है। पत्र में कहा कि रक्षा एवं स्त्रातेजिक अध्ययन जैसे गम्भीर एवं समसामयिक विषय को उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (Uttar Pradesh Public Service Commission) की परीक्षा से हटा दिया गया है। किसी राष्ट्र की प्रगति बिना सुरक्षा के सम्भव नहीं है, इस विषय के अंतर्गत राष्ट्रीय सुरक्षा (National Security) आन्तरिक सुरक्षा (Internal Security) तथा सुरक्षा के विभिन्न आयाम जैसे पर्यावरण सुरक्षा (Environmental Security), परमाणु उर्जा (Nuclear Energy), अन्तरिक्ष युद्ध (Space War), साइबर सुरक्षा (Cyber Security), नागरिक सुरक्षा (Civil Security), अंतर्राष्ट्रीय सम्बंध (International Relations) और विदेश नीति (Foreign Policy) आदि जैसे गम्भीर विषयों पर छात्र-छात्राएं अध्ययनरत हैं, जो आगे चलकर राष्ट्र निर्माण में एक जिम्मेदार नागरिक के रूप में अपना योगदान देते हैं। साथ ही साथ समाज में इन गम्भीर विषयों पर जनजागरूकता का भी कार्य करते हैं। वर्तमान में नव राष्ट्र निर्माण के परिकल्पना सुयोग्य एवं कुशल नेतृत्व के हाथों में हैं। इसके बावजूद रक्षा एवं स्त्रातेजिक अध्ययन जैसे विषय को प्रतियोगी परीक्षा से हटाना कतई न्याय संगत नहीं है। छात्रों ने सीएम योगी (CM Yogi) से उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (Uttar Pradesh Public Service Commission) की परीक्षा में रक्षा अध्ययन विषय (Defense studies subjects) को फिर से शामिल कराने की मांग की है।

छात्रों ने मांग पत्र की प्रतिलिपि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ram Nath Kovind) , राज्यपाल आनंदी बेन पटेल (Governor Anandi Ben Patel) , रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Defense Minister Rajnath Singh), मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ (Human Resource Development Minister Ramesh Pokhriyal 'Nishank'), राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल (National Security Advisor Ajit Doval) और यूपी लोकसेवा आयोग (Uttar Pradesh Public Service Commission)  के अध्यक्ष को भी भेजी है।

यह भी पढ़ें- 

ब्लैकलिस्ट होने से बचा पाकिस्तान, FATF ने फरवरी तक दी सुधरने की मोहलत

आईएनएक्स मीडिया केस: सीबीआई ने पूर्व वित्तमंत्री पी. चिदम्बरम सहित 14 लोगों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की

ट्राई का ऐलान, 31 अक्टूबर तक बंद हो जाएंगे सात करोड़ मोबाइल नम्बर, जल्द करा लें पोर्ट

Web Title: Fury among teachers and students on removal of defense studies subject from UPPSC ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया