प्रदेश में शीघ्र ही लागू होगी कौशलाचार्य सम्मान योजना


NP1181 19/10/2019 12:27:11
35 Views

LUCKNOW. केन्द्रीय कौशल विकास मंत्री महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान के सभागार में भारतीय कौशल विकास केन्द्र, उत्तर प्रदेश कौशल विकास मिशन के सहयोग से पी0एच0डी0 चैम्बर आफ काॅमर्स एण्ड इंडस्ट्रीज द्वारा आयोजित उत्तर प्रदेश कौशल विकास एवं लघु उद्योग सम्मेलन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि उद्योगों को प्रशिक्षित मानव प्रबंधन उपलब्ध कराने के लिए केन्द्र और राज्य सरकार मिलकर व्यापक स्तर पर विभिन्न ट्रेडों में लोगों को प्रशिक्षण प्रदान कर रहे हैं। प्रशिक्षण के उपरान्त लोगों को दक्ष करने के उद्देश्य से अप्रेन्टिस कार्यक्रम भी चलाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कौशल विकास केन्द्रों को और प्रभावी बनाया जा रहा है। तकनीकी श्रम के माध्यम से रोजगार के व्यापक अवसर लोगों को सुलभ होंगे।  

19-10-2019123250Kaushalacharya1

उन्होने कहा कि केन्द्र सरकार व राज्य सरकार मिलकर प्रदेश एवं देश को आगे बढ़ाने का कार्य करेंगे। स्किल मैन पावर के लिए आर0पी0एल0 स्कीम चलाई गई है। उन्होंने कहा कि लेबर मैनेजमेंट इनफारमेंशन सिस्टम डेवलप किया जा रहा है। 54 लाख लोगों को विभिन्न क्षेत्र में ट्रेंड किया गया है तथा 12 लाख को रोजगार भी प्राप्त हुआ है। शिक्षक दिवस पर छोटे-छोटे कारीगरों को प्रोत्साहित करने के लिए शीघ्र ही कौशलाचार्य सम्मान योजना लागू की जायेगी।

उत्तर प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि यू0पी0 इन्वेस्टर्स समिट का सफल आयोजन हुआ। आने वाले समय में उद्यम भी स्थापित हो जायेंगे। इनमें से सर्विस सेक्टर जल्दी तैयार हो जाएगा। उत्तर प्रदेश ही नहीं बल्कि देश में लेबर इंडेक्स नहीं है। लेबर इंडेक्स मायने यह है कि आने वाले समय में भारत के राज्यों में एग्रो प्रोसेसिंग, हैवी इन्डस्ट्री, मीडियम स्केल इन्डस्ट्रीज या सर्विस सेक्टर में कितने लोगों की आवश्यकता पड़ने वाली है। राज्य स्तर पर इसका प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है, जल्द ही इसको लागू किया जायेगा। 

श्री सिंह ने कहा कि वर्तमान में भारत की अर्थव्यवस्था टेक्नालाजी के पदार्पण से कई चीजों में परिवर्तन आया है। जल्द ही बड़ी संख्या में रोजगार का सृजन भी होगा।  डिजिटल इंडिया प्रोग्राम के तहत पूरे प्रदेश में एक लाख 25 हजार गांवों को आप्टिकल फाइबर केबिल से जोड़ा गया है। इस कार्यक्रम को आगे बढ़ाने के लिए स्किलिंग की आवश्यकता है।

उद्योग मंत्री ने कहा कि शिक्षा विभाग के साथ समन्वय स्थापित करके एनसीईआरटी के पाठ्यक्रम में कौशल विकास के चैप्टर को जोड़ा जायेगा। नौकरियां देने में यह महत्वपूर्ण चैप्टर साबित होगा। उन्होंने कहा कि टूरिज्म बहुत बड़ा क्षेत्र है। इसमें रोजगार की असीम सम्म्भावना है। खादी को प्रमोट किया जा रहा है। खादी को लोकप्रिय बनाने के लिए इटली और फ्रांस में आयोजित होने वाले फैशन शो में खादी परिधानों का भी डिस्प्ले कराया जायेगा।

Web Title: Kaushalacharya Samman scheme will be implemented soon in the state ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया