शिवसेना-बीजेपी की तनातनी पवार को बना सकती है किंगमेकर, भाजपा की बढ़ी चिंता


NAZO ALI SHEIKH 04/11/2019 09:59 AM
40 Views

Mumbai. महाराष्ट्र के राजनीतिक शतरंज में किसे मिलेगी शह और किसे मिलेगी मात, यह तो सोमवार को एनसीपी प्रमुख शरद पवार और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (sonia gandhi) की मुलाकात के बाद साफ हो जाएगा। सूबे में शिवसेना (shivsena) और बीजेपी (BJP)के बीच जारी खींचतान ने अचानक पवार की अहमियत बढ़ा दी है। 

Shiv Sena-BJP s taunt may make Pawaar kingmaker, BJP worries

शिवसेना और एनसीपी (NCP) के बीच पक रही नई खिचड़ी से भाजपा में पहली बार हलचल मची है। दरअसल खबरें आ रही हैं कि शिवसेना ने एनसीपी के साथ मिलरकर सरकार बनाने और सरकार का नेतृत्व करने का भी प्रस्ताव दिया है। जबकि भाजपा को यकीन है कि पवार आखिरी में शिवसेना को धोखा देंगे। 

यह भी पढ़ें... पुलिस विभाग में निकली 11 हजार भर्तियां, जानें आवेदन की अंतिम तिथि

महाराष्ट्र की सियासत में शिवसेना और बीजेपी के बीच चल रही तनातनी में अब पवार की भूमिका ज्यादा अहम हो गई है। चर्चा है कि भाजपा से नाराज शिवसेना ने पवार को एनसीपी की अगुवाई में सरकार बनाने का प्रस्ताव दिया है। इस प्रस्ताव पर सोच-विचार करने से पहले एनसीपी चाहती है कि शिवसेना सबके सामने भाजपा से संबंध तोड़ने का ऐलान कर दे। शिवसेना के इस प्रस्ताव के बाद एनसीपी ने पूरे मामले में कांग्रेस से बाचतीच का मन बनाया है। इसी सिलसिले में सोमवार यानी आज सोनिया और पवार की अहम मुलाकात होने वाली है। 

Shiv Sena-BJP s taunt may make Pawaar kingmaker, BJP worries

  भाजपा की बढ़ी चिंता

भाजपा के रणनीतिकारों का कहना है कि यह सही है कि शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस मिल जाएं तो इनकी मिली-जुली सीटों की संख्या बहुमत से बहुत ज्यादा होंगी। इसके अलावा शिवसेना के तीखे बोल, राकांपा नेताओं से मुलाकात को फिलहाल दबाव की राजनीति ही मान रही है। पार्टी को लगता है कि रिश्तों में कड़वाहट के बावजूद शिवसेना राकांपा-कांग्रेस (Rakapa- congress) से हाथ मिलाने के फैसला नहीं लेगी। 

Web Title: Shiv Sena-BJP s taunt may make Pawaar kingmaker, BJP worries ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया