तैयारियां तमाम, सरकारी क्रय केंद्रों पर नहीं दिख रहे किसान


NP1534 07/11/2019 11:28:46
26 Views

Unnao. जिले में धान खरीद के लिए किए गए तमाम सरकारी इंतजामों पर अव्यवस्था हावी है। कहने को तो सरकारी अमले ने बड़े पैमाने पर तैयारियां कर रखी हैं। लेकिन प्रशासनिक व्यवस्था को देखते खरीद में वह प्रगति नहीं देखने को मिल रही है। 

07-11-2019113419Allpreparatio1
 

जिले में एक नवंबर से सरकारी धान खरीद शुरु हुई है। धान खरीद के लिए खोले गए 28 क्रय केंद्रों में सबसे ज्यादा पीसीएफ के 12 क्रय केंद्र हैं। 
दूसरे नंबर पर विपणन विभाग और एसएफसी के क्रमश: 6, 5 केंद्र खोले गए हैं। यूपीस्टेट एग्रो व यूपीएसएस के 2-2 और एफसीआई के 1 केंद्र पर धान खरीद हो रही है। 
शासन ने धान के लिए कामन के 1815 रुपये और ए ग्रेड के लिए 1835 रुपये प्रति क्विंटल का रेट तय किया है। इसके अलावा 20 रुपये छनाई आदि के अतिरिक्त मिलेंगे। जिसकी वापसी किसानों को धान के भुगतान में कर दी जाएगी। 
प्रदेश की योगी सरकार ने इस बार विपणन विभाग के भुगतान में नई व्यवस्था लागू की है। अब विपणन विभाग के केंद्रों पर उपज बेचने वाले किसानों को मात्र 24 घंटे में भुगतान मिल जाएगा। शासन ने स्थानीयस्तर पर भुगतान देने की व्यवस्था समाप्त कर दी है। 
अब भुगतान लखनऊ मुख्यालय से होगा। अभी यह व्यवस्था केवल विपणन विभाग के क्रय केंद्रों पर ही लागू की गई है। 
  नई व्यवस्था से भुगतान में आएगी पारदर्शिता
जिला खाद्य विपणन अधिकारी राजीव कुलश्रेष्ठ ने बताया कि नई व्यवस्था में केवल उसी किसान के खाते में ही पैसा भेजा जाएगा जिसके नाम खतौनी है। खतौनी में जो नाम चढ़ा होगा उसी नाम का बैंक खाता भी होना चाहिए। यदि बैंक और खतौनी में अलग-अलग नाम होगा तो भुगतान नहीं दिया जाएगा। किसान को खतौनी के नाम का ही खाता खुलवाना होगा। 


यह भी पढ़ें...प्रदूषण पर सुप्रीम कोर्ट नाराज,कहा नियम तोड़ने वालों को बख्शा नहीं जाएगा
 

 

 

Web Title: All preparations, farmers are not seen at government purchasing centers ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया