Cancer Awareness Day: शरीर के किसी भी भाग में होने वाले परिवर्तन को नजर अंदाज न करें


NP1591 07/11/2019 12:16:39
81 Views

Lucknow: आज पूरा देश हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी राष्ट्रीय कैंसर जागरुकता दिवस के रुप में मना रहा है। भारत में कैंसर और उसके लक्षण एवं उपचार के बारें में लोगों को जागरूक करने के लिए 7 नवम्बर को राष्ट्रीय कैंसर दिवस के रूप में  मनाता है। इस दिन राष्ट्रीय कैंसर जागरुकता दिवस (Cancer Awareness Day) मनाने की घोषणा केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री में हर्षवर्धन सिंह ने 2014 में की थी।

07-11-2019150154CancerAwarene1

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के अनुसार साल 2018 में कैंसर ने विश्व भर से लगभग 96 लाख लोगों के जीवन को निगल चुका है। दावा यह भी है भारत से लगभग 8.17% लोग शामिल हैं। बता दें कि कैंसर सौ से अधिक प्रकार के होते हैं। जब शरीर में कोशिकाओं की असामान्य वृद्धि होती है तो इससे कैंसर होता है और अन्य ऊतकों पर भी आक्रमण करता है। यह शरीर के लगभग किसी भी हिस्से को प्रभावित कर सकता है। सबसे महत्वपूर्ण है कि शुरुआत में ही कैंसर को डायग्नोस कर लिया जाए। लेकिन जब तक प्रभावी तरीके से हम यह नहीं बता सकते हैं कि हर प्रकार के कैंसर का कारण क्या होता है, तब तक हम सबसे आम लक्षणों को समझने की कोशिश कर सकते हैं। अगर हम हमारे शरीर में होने वाले छोटे-छोटे बदलाव पर ध्यान देंगे तो कैंसर को लक्षणों को पहचान सकेंगे। यहां ऐसे ही संकेतों के बारे में बताया है जो शरीर हमें देता है।

कैंसर क्या है?

कैंसर( Cancer) एक किस्म की बीमारी नहीं होती, बल्कि यह कई रूप में होता है। कैंसर के 100 से अधिक प्रकार होते हैं। कैंसर शब्द ऐसे रोगों के लिए प्रयुक्त किया जाता है जिसमें असामान्य कोशिकाएं बिना किसी नियंत्रण के विभाजित होती हैं और वे अन्य ऊतकों पर आक्रमण करने में सक्षम होती हैं। अधिकतर कैंसरों के नाम उस अंग या कोशिकाओं के नाम पर रखे जाते हैं जिनमें वे शुरू होते हैं- उदाहरण के लिए, बृहदान्त्र में शुरू होने वाला कैंसर पेट का कैंसर कहा जाता है, कैंसर जो कि त्वचा की बेसल कोशिकाओं में शुरू होता है बेसल सेल कार्सिनोमा कहा जाता है।  कैंसर (Cancer) की कोशिकाओं रक्त (blood) और लसीका प्रणाली के माध्यम से शरीर के अन्य भागों में फैल सकती हैं।

07-11-2019150410CancerAwarene4

कैंसर के कुछ लक्षण

अगर शरीर के किसी भी अंग में परिवर्तन होता देखे तो डॉक्टर से सलाह लेकर तुरंत उसकी जांच करानी चाहिए। मेडिकल साइंस में करीब 100 से अधिक तरह के कैंसर बताए गये है। जिनमें से 70 प्रतिशत को समय रहते पहचाना जा सकता है। गलत खान-पान, गुटखा, तम्बाकू, शराब, मोटापा, अनुवांशिकता, मोटापा, और सुस्ती को भी कैंसर होने की वजह में मुख्य कारण माना जाता है। इसके साथ डाइट (Diet) पर रहना की वजह से भी  कैंसर होने की संभावना रहती है। कैंसर के निम्न लक्षण- स्तन या शरीर के किसी अन्य भाग में कड़ापन या गांठ। एक नया तिल या मौजूदा तिल में परिवर्तन। कोई खराश जो ठीक नहीं हो पाती। आवाज बैठना या खांसी का ठीक ना होना। आंत या मूत्राशय की आदतों में परिवर्तन। खाने के बाद अस्वस्थ्य महसूस करना। खाते समय निगलने में कठिनाई होना। वजन में बिना किसी कारण के वृद्धि या कमी आना। असामान्य रक्तस्राव। कमजोर लगना या बहुत थकावट महसूस करना।

07-11-2019150210CancerAwarene2

आमतौर पर, यह लक्षण कैंसर के कारण उत्पन्न नहीं होते। ये सौम्य ट्यूमर या अन्य समस्याओं के कारण पैदा हो सकते हैं। केवल डॉक्टर ही इनके बारे में ठीक-ठीक बता सकते हैं। जिसे भी ये लक्षण या स्वास्थ्य के अन्य परिवर्तन आते हैं, इसका तुरंत पता लगाने के लिए डॉक्टर (doctor) से दिखाना चाहिए। आमतौर पर शुरुआती कैंसर दर्द नहीं करता यदि आपको कैंसर के लक्षण हैं, तो डॉक्टर को दिखाने के लिए दर्द होने का इंतजार न करें।

कैंसर की रोकथाम?

तंबाकू उत्पादों का प्रयोग न करें। कम वसा वाला भोजन करें तथा सब्जी, फलों और समूचे अनाजों का उपयोग अधिक करें, नियमित व्यायाम करें, गोमूत्र का सेवन करें।

 

 

 

 

Web Title: Cancer Awareness Day: Do not ignore changes in any part of the body ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया