असफलता को अपनी प्रेरणा बनाएं और उससे सीख लें — सेनाध्यक्ष विपिन रावत


NP1181 12/11/2019 15:17:01
25 Views


LUCKNOW. बाबासाहेब भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय, लखनऊ के आठवें दीक्षांत समारोह को मुख्य अतिथि सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने संबोधित करते हुए कहा कि हमारा देश तेजी से उन्नति कर रहा है और इसका श्रेय देश की सामाजिक कार्यप्रणाली को जाता है जिसमें एकता, समानता और भाईचारे का भाव निहित है। यही भाव इस विश्वविद्यालय में देखने को मिलता है। हमारे नौजवान, हमारे देश का भविष्य हैं। यहां से आज जो विद्यार्थी उपाधि ग्रहण करके निकल रहे हैं उन्हीं में से कुछ इस देश के इतिहास में अपना नाम स्वर्णिम अक्षरों में दर्ज कराएंगे । आगे बढ़ने की दिशा में आपको बहुत सी मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा। इस देश को प्रगति के पथ पर ले जाने की जिम्मेदारी आपके कंधों पर है और इस सफर में बहुत सी चुनौतियां आपके सामने आएंगी। जिसमें से कुछ चुनौतियों को पार करने में आप सफल होंगे और कभी आप असफल भी होंगे। मगर जब भी आप असफल हो, उस असफलता को अपनी प्रेरणा बनाएं और उससे सीख लेते हुए आगे बढ़े।   चुनौतियों का सामना करने के लिए मेहनत, लगन और ईमानदारी की जरूरत है। यह विश्वविद्यालय आने वाले दिनों में नई ऊंचाइयों पर पहुंचेगा। यहां से निकलने वाला हर नौजवान देश की प्रगति में हिस्सेदार बनेगा ऐसी मैं कामना करता हूं।
देश में आर्थिक समरसता होनी चाहिए—पद्मश्री मिलिंद काम्बले 
समारोह में विशिष्ट अतिथि पद्मश्री मिलिंद प्रह्लाद काम्बले को विश्वविद्यालय द्वारा "डॉ0 ऑफ साइंस" की मानद उपाधि प्रदान की गई। पद्मश्री मिलिंद कांबले ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि मैं महाराष्ट्र से आता हूँ जो कि बाबासाहेब, महात्मा फुले, छत्रपति साहू जी महाराज की भूमि है । यह विवि बाबासाहेब के नाम पर है जो कि शिक्षा के क्षेत्र में अपना अग्रणी योगदान दे रहा है। मैं बाबासाहेब के विचारों  को मानने वाला व्यक्ति हूं और बाबासाहेब भारत के एक महान अर्थशास्त्री थे। उनके जीवन के इस पहलू पर काम करने के विचार से हमने एससी/एसटी वर्ग के आर्थिक विकास के लिए 2005 से कार्य करना शुरू किया। बाबासाहेब का मानना था कि देश में आर्थिक समरसता होनी चाहिए मगर आज भी हम उस समानता को नहीं पा सके हैं।एससी/एसटी वर्ग के लिए आज भी कार्य करने की आवश्यकता है। इस वर्ग के युवाओं की आकांक्षाओं को पूरा करने के उद्देश्य से हमने डिक्की की स्थापना की है। आर्थिक संवर्धन और दलित समाज में नेतृत्व की क्षमता के विकास के लिए डिक्की पिछले 15 वर्षों से कार्य कर रहा है। 
 
12-11-2019175737Makefailurey1
समारोह की शुरुआत विश्वविद्यालय के कुलपति आचार्य संजय सिंह के स्वागत वक्तव्य के साथ हुई। कुलपति  ने आंठवें दीक्षांत समारोह में उपाधि ग्रहण करने वाले विद्यार्थियों को अपनी शुभकामनाएं देते हुए विवि के शैक्षणिक कार्यकलापों और उपलब्धियों से सभी को अवगत कराया। इसके साथ ही उन्होंने विवि द्वारा चलाए जा रहे विभिन्न पाठ्यक्रमों के बारे में बताया। उन्होंने इस वर्ष विभिन्न संस्थाओं के साथ हुए शिक्षा मसौदों के बारे बताया और कहा कि हमारा पूरा प्रयास है कि हम विवि के शैक्षणिक स्तर को और आगे ले कर जाए। विवि ने एमएचआरडी के एंटरप्राइज़ रिसोर्स प्रोजेक्ट के तहत "ऑटोमेशन ऑफ एकैडमिक एंड एडमिनिस्ट्रेटिव प्रोसेस" की शुरुआत की है। इससे प्रशासनिक और अकादमिक कार्यों को गति मिलेगी।  समारोह के अंत मे कुलाधिपति द्वारा समारोह में प्रथम सत्र के समापन की औपचारिक घोषणा की गई।

समारोह में 2 विद्यार्थियों,  "स्कूल ऑफ अंबेडकर स्टडीज़ के हिस्ट्री डिपार्टमेंट के रोहित वर्मा, वर्ष 2019 और स्कूल ऑफ अंबेडकर स्टडी के मुंगमुरी क्रांथि कुमार को वर्ष 2018 के लिए आर0 डी0 सोनकर पुरस्कार से सम्मानित किया गया। 

वर्ष 2018 में स्कूल स्तर पर प्रदान किये गए मैडल

- स्कूल ऑफ अंबेडकर स्टडीज़ से एम0 ए0 इकोनॉमिक्स के   संजीव दुबे 
- स्कूल ऑफ बायो साइंसेज एंड टेक्नोलॉजी से एमएससी (एग्रीकल्चर) हॉर्टिकल्चर के आकाश शुक्ला 
- स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी से बीटेक की तनुश्री 
- स्कूल फ़ॉर एनवायरमेंटल साइंसेज़ से बीएससी ऑनर्स जीयोलॉजी के शुभम मिश्रा 
- स्कूल फॉर होम साइंसेज़ से एमएससी (एचडी एंड एफएस) की शिवानी सिंह
- स्कूल फॉर इंफॉर्मेशन साइंस एंड टेक्नोलॉजी से एमटेक सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग की हिमांशु अग्रवाल 
- स्कूल फॉर लैंग्वेजेज़ एंड लिटरेचर से एमए हिंदी के अतुल पांडे 
-स्कूल फॉर लीगल स्टडीज़ से वन ईयर एलएलएम प्रशांत त्रिपाठी 
-स्कूल फॉर मैनेजमेंट स्टडीज से बीकॉम ऑनर्स की अंकिता उपाध्याय 
-स्कूल फॉर फिज़िकल साइंसेज से एमएससी अप्लाइड मैथेमेटिक्स के जुबी सिद्दीकी 
-स्कूल ऑफ एजुकेशन से बीएड के फर्याल अली
-सेंटर फॉर वोकेशनल एंड इंटीग्रल स्टूडिज़ (सैटेलाइट कैंपस अमेठी) एलएलएम के विकास कुमार सिंह।
सत्र 2019 के लिए स्कूल स्तर पर प्रदान किये गए मैडल
- स्कूल फाॅर अम्बेडकर स्टडीज से बीए (ऑनर्स) पब्लिक  एडमिनिस्ट्रेशन के धर्मेन्द्र यादव
- स्कूल फाॅर बायोसाइंसेज़ एण्ड बायोटेक्नोलाॅजी एमएससी (एग्रीकल्चर) हार्टीकल्चर के रजाउद्दीन
- स्कूल फाॅर इंजीनियरिंग एण्ड टेक्नोलाॅजी से बी टेक (मैकेनिकल इंजीनियरिंग) के सारांश तिवारी
- स्कूल फाॅर एनवायरमेंट साइंस से इंटीग्रेटेड बीएससी-एम एससी (बेसिक साइंस) के हर्ष जोशी
-स्कूल फाॅर होम साईंस से एमएससी फूड साइंस एण्ड टेक्नोलाॅजी की मानसी मंडल
- स्कूल फाॅर इनफाॅर्मेशन साइंस एंड टेक्नोलाॅजी से मास्टर आॅफ कम्प्यूटर एप्लीकेशन की रश्मी दीक्षित
- स्कूल फाॅर लैग्वेज एंड लिटरेचर से एमए हिन्दी की कुमारी सोनम तोमर
- स्कूल फाॅर लीगल स्टडीज से बीबीए, एलएलबी( ऑनर्स) 2014-2019 के अमन दीप
- स्कूल फाॅर मैनेजमेंट स्टडीज़ के बैचलर आॅफ बिज़नेस एडमिनिस्ट्रेशन की निहारिका तिवारी
- स्कूल फाॅर फिज़िकल साइंस से एमए सी एप्लाइड मैथेमैटिक्स की आयुषी श्रीवास
- स्कूल आॅफ एजुकेशन से बैचलर आॅफ एजुकेशन की कुमारी पूजा
- सेंटर फाॅर वोकेशनल एंड इंटीग्रल स्टडीज (सैटेलाईट कैम्पस) से बीसीए की कुमारी अमृता सिंह
 समारोह में विवि के कुलपति आचार्य संजय सिंह, कुलाधिपति डॉ0 प्रकाश सी0 बरतुनिया, सीओई प्रो0 मनीष वर्मा, डीन अकैडमिक प्रो0 आर0 पी0 सिंह तथा सभी संकाय अध्यक्ष अतिथियों के साथ मंच पर उपस्थित रहे।

 

Web Title: Make failure your inspiration and learn from it - Army Chief Vipin Rawat ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया