40 हजार फ्लैट के निर्माण पर लगी रोक, जानिए क्या रही वजह


NP1534 14/11/2019 07:57:05
45 Views

- प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत केडीए को बनवाने थे फ्लैट
Kanpur. प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बनने वाले 40 हजार फ्लैट बनाने पर शासन ने रोक लगा दी है। यह रोक लोगों में योजना के प्रति रूचि न होने के चलते लगायी गयी है। दरअसल योजना को अमली जामा पहनाने से पहले डिमांड सर्वे कराया गया था जिसमें लोगों कोई खास दिलचस्पी नहीं दिखाई। इसके बाद प्रमुख सचिव आवास ने इस परियोजना को रद्द करने के निर्देश दिए है।

14-11-2019080307Banonconstru1
 

प्रमुख सचिव (आवास) दीपक कुमार ने हाल ही में केडीए अधिकारियों के साथ बैठक की थी। इस बैठक में उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत शहर में बनाए जाने वाले 40 हजार फ्लैट की जारी परियोजना रद्द करने के निर्देश दिए है। 
प्रधानमंत्री आवास योजना की राह में आने वाली दिक्कतों को दूर करने के लिए प्रमुख सचिव ने प्रदेश भर के विकास प्राधिकरणों के अधिकारियों की बैठक बुलाई थी। 

14-11-2019080402Banonconstru2
 

बैठक में प्राधिकरणों के अधिकारियों ने प्रमुख सचिव के सामने यह बात रखी कि लक्ष्य को देखते हुए इस योजना में फ्लैट्स की मांग नहीं आ रही है। 
जिस प्रमुख सचिव ने कहा कि लक्ष्य के बराबर आवेदन न मिले तो ऐसी परियोजनाएं रद्द कर दी जाए। इसके साथ ही उन्होंने जिन योजनाओं में फ्लैटों के आवंटन किए गए है उनके रखरखाव के लिफ फंड बनाने और उनके संचालन के लिए सरकारी ​अधिकारियों की समिति गठित करने के निर्देश भी दिए है। 
बता दें कि शासन की ओर केडीए को वर्ष 2020-21 में शहर में 40 हजार फ्लैट बनाने का लक्ष्य दिया था। 
लेकिन इस योजना के प्रति लोगों की उदासीनता के चलते अधिकारियों को कुछ समझ नहीं आ रहा था कि बिना मांग के फ्लैट किस आधार पर बनवाए जाए। 
प्रमुख सचिव के आदेश ने केडीए अधिकारियों को राहत पहुचाई है। फिलहाल पूरी वस्तु स्थिति से सूडा और केंद्र सरकार को अवगत कराने की तैयारी की जा रही है। 
बता दें कि केडीए ने योजना के अगले चरण में भागीरथी, सनिगवां, बिनगवां, कुलगांव, रूमा, उचटी समेत विभिन्न इलाकों में तकरीबन 20 हजार फ्लैट बनवाने के लिए आवेदन मांगे थे। जिसके सापेक्ष महज 2939 लोगों ने ही आवेदन किया। 

यह भी पढ़ें...मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस: दिल्ली की साकेत कोर्ट आज सुनाएगी फैसला

 

 

 

Web Title: Ban on construction of 40 thousand flats, know what is the reason ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया